Home »Hollywood» Repeat Story Failed To Entertain In Jurassic World's Fallen Kingdom, Know In 5 Points Why Film Is Boring

रिपीट स्टोरी ने बिगाड़ा जुरासिक वर्ल्ड फॉलेन किंगडम का स्टार्ट 5 पॉइंट्स में जानें क्यों बोर करती है फिल्म

फिल्म की कहानी एक ऐसे रिटायर्ड आर्मी अॉफिसर की है जो डायनासोर की अलग प्रजाति खोजने निकलता है। वह कामयाब भी होता है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 07, 2018, 06:41 PM IST

रिपीट स्टोरी ने बिगाड़ा जुरासिक वर्ल्ड फॉलेन किंगडम का स्टार्ट 5 पॉइंट्स में जानें क्यों बोर करती है फिल्म

एंटरटेन्मेंट डेस्क। 1990 में एक नॉवेल के तौर पर सामने आयी जुरासिक पार्क को पूरी दुनिया में बेहद पसंद किया गया। 1993 में पहली फिल्म के तौर पर जुरासिक पार्क 2018 में अपनी रिलीज की सिल्वर जुबली कम्पलीट कर रही है। इसलिए इस साल जुरासिक पार्क सीरीज की 5वीं फिल्म जुरासिक वर्ल्ड फॉलेन किंगडम रिलीज हो चुकी है। पहले यह फिल्म 8 जून को इंडिया में रिलीज होनी थी, लेकिन बाद में इसकी डेट बदलकर 7 जून कर दी गई है। भारत में यह फिल्म हिन्दी, अंग्रेजी, तमिल और तेलुगु भाषाओं में रिलीज किया गया है।

डायरेक्टर जे ए बेयोन के मॉन्स्टर्स
फॉलेन किंगडम के डायरेक्टर जे ए बेयाेन हैं। जे ए बेयाेन की फिल्मोग्राफी द ऑर्फनेज, द मॉन्स्टर कॉल्स और द इम्पाॅसिबल में जो लोग देख चुके हैं वे इस फिल्म के सीन्स का प्रिडिक्शन आसानी से कर सकेंगे। डर और दहशत जो होनी चाहिए थी, उसकी कमी लगी।

क्रिस प्रैट और ब्राइस डलास की जोड़ी
क्रिस और ब्राइस की जोड़ी इस फिल्म में रोमांस का टच था। एक हॉरर फिल्म में काम करते हुए दोनों को देखना एक बार फिर एंटरटेनिंग हो सकता था, लेकिन स्टोरी रिपीटेशन ने इसे बोरिंग कर दिया। एवेंजर्स इन्फिनिटी वॉर के में जलवा दिखा चुके क्रिस का एक्शन जानदार है।

डायनासोरस की ऑरिजनलिटी
आम तौर पर किसी हॉरर सीरीज का विलन और ज्यादा भयानक होता जाता है। जुरासिक पार्क की हर सीरीज में डायनासोरस के साथ हर बार नए प्रयोग हो रहे हैं। इस फिल्म में भी डायनासोर को वीएफएक्स की जगह रीयल दिखाने पर काम किया गया है, लेकिन वे डराने में नाकाम रहे हैं।

बच्चे जो फिर बचे
जुरासिक पार्क की पिछली सीरीज की तरह ही बच्चे डायनासोरस के सॉफ्ट टार्गेट होंगे। कुछ डिसीजन उन्हें मुसीबत में डालते हैं और यह सोचने पर मजबूर करते हैं कि आखिर क्लाइमैक्स में क्या होगा।

जेफ गोल्डब्लम के दो सीन
फिल्म में जेफ गोल्डब्लम केवल 80 सेकंड्स के लिए नजर आए हैं। उनके महज दो ही सीन हैं। जबकि द लॉस्ट वर्ल्ड में डायनासोरस के लिए एक बैचेन इंसान का किरदार निभाकर उन्होंने अच्छा खासा मनोरंजन किया था।


7 सेक्शन हैं नॉवेल में, यह 5वीं फिल्म
- 1990 में माइकल क्रिकटन का नॉवेल जुरासिक पार्क पब्लिश हुआ। माइकल का यह नॉवेल 7 सेक्शन में था। साइंस फिक्शन नॉवेल पर पहली बार 1993 में स्टीवन स्पीलबर्ग ने फिल्म बनायी। जिसे बहुत पसंद किया गया।
- क्रिकटन ने 1997 में नॉवेल का सीक्वल लिखा जिसे द लॉस्ट वर्ल्ड नाम दिया। इस दूसरी नॉवेल पर भी द लॉस्ट वर्ल्ड जुरासिक पार्क टाइटल से फिल्म बनायी गई।
- जुरासिक पार्क 3 टाइटल से तीसरी फिल्म 2001 में आयी। इसके बाद चौथी फिल्म 2015 में जुरासिक वर्ल्ड रही।
जुरासिक वर्ल्ड फॉलेन किंगडम् 2018 में आ रही है 5वीं फिल्म है।

एक्स्ट्रा शाॅट्स
- सीरीज की अगली फिल्म जुरासिक वर्ल्ड 3 की तैयारियां भी पूरी हो चुकी हैं। यह फिल्म 2021 में रिलीज होगी।
- 2016 में इस नॉवेल के आधार पर दो शॉर्ट फिल्में भी बन चुकी हैं। टाइटल लेगो जुरासिक वर्ल्ड द इन्डॉमिनस एस्केप और एम्पलॉयी सेफ्टी वीडियो शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप

Trending

Top
×