Home »News» Celebration With #WorldFansDay As Rebirth Of Amitabh Bachachan After Coolie Accident In 1982

2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी

अमिताभ ने पुनर्जन्म के बाद हॉस्पिटल से बाहर आकर फैन्स का हाथ हिलाकर अभिवादन किया, तब से हर रविवार यह सिलसिला जारी है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Aug 03, 2018, 11:56 AM IST

  • 2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी
    +7और स्लाइड देखें

    बॉलीवुड डेस्क.अमिताभ बच्चन, 26 जुलाई 1982 को बंगलुरु में कुली के सेट पर घायल हुए थे। तीन दिन सीरियस चोट और दर्द की कशमकश के बीच जब चौथे दिन अमिताभ कोमा में चले गए तब डॉक्टर्स ने उन्हें मुंबई शिफ्ट किया। उस दिन हॉस्पिटल के अंदर और बाहर लोग दुआएं कर रहे थे, जिस कारण अमिताभ को दोबारा जीवन मिला। यही वजह है कि 1982 के बाद से हर साल अमिताभ 2 अगस्त के दिन अपना दूसरा जन्मदिन सेलिब्रेट करते हैं। बिग बी हॉस्पिटल में बिताए उन दिनों के किस्से कई इंटरव्यूज में शेयर कर चुके हैं।

    2 अगस्त को हुआ दोबारा ऑपरेशन :2 अगस्त 1982, मुंबई का ब्रीचकैंडी हॉस्पिटल। अमिताभ बच्चन लगभग मौत के मुंह में जा चुके थे। बैंगलोर से मुंबई लाते वक्त अमिताभ के पेट में लगे टांके खुल गए और उनकी कंडीशन बेहद खराब हो गई। ब्रीचकैंडी में डॉक्टर्स ने अमिताभ का दोबारा ऑपरेशन किया। यह ऑपरेशन करीब 8 घंटे चला।

    - ऑपरेशन वाले दिन ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल रेलवे स्टेशन की तरह लग रहा था। हॉस्पिटल के सैकेंड फ्लोर पर बने आईसीयू में अमिताभ को लाया गया, लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर होने के बावजूद डॉक्टर्स लगभग नाउम्मीद हो चुके थे कि वे बचेंगे। जया आईसीयू के बाहर खड़ी थीं। डॉक्टर्स निराश होकर बाहर आने लगे, तभी जया को अमिताभ के पैरों में हरकत दिखाई दी।

    - जया ने चिल्लाते हुए कहा डॉक्टर्स से कहा- मैंने इनके पैरों को हिलते देखा आप एक बार फिर से चेक कीजिए। इसके बाद अमिताभ को एक इंजेक्शन दिया गया।

    - तब जाकर अमिताभ की सांसें वापस लौटीं और धीरे-धीरे वे रिकवर करने लगे। 24 सितम्बर को उन्हें डिस्चार्ज किया गया।

    पेपर में छपे थे दुआ करने वाले विज्ञापन :अमिताभ की सलामती के लिए दुआ करने वालों की दीवानगी इससे पता चली कि उस वक्त के अखबारों में उनके जिंदगी के लिए दुआ करने विज्ञापन तक निकाले गए। चौबीसों घंटे ब्रीच कैंडी अस्पताल के बाहर हजारों प्रशंसकों की भीड़ लगी रहती थी।

    - देशभर में उनके लिए प्रार्थनाओं का दौर जारी था। जया बच्चन खुद जब नंगे पैर अमिताभ के लिए प्रार्थना करने सिद्धि विनायक मंदिर जातीं तो देखकर हैरान रह जातीं कि वहां पहले से ही हजारों लोग अमिताभ की सलामती की दुआ मांग रहे होते।

    वर्ल्ड फैन्स डे हैशटैग से सेलिब्रेशन: अमिताभ के फैन्स 2 अगस्त का दिन #WorldFansDay हैशटैग से सेलिब्रेट कर रहे हैं। अमिताभ खुद इस दिन अपना सैकेंड बर्थडे मनाते हैं। पिछले कुछ सालों से ट्विटर पर इस दिन को रीकॉल करते आ रहे हैं। इस बार भी अमिताभ ने ट्वीट कर उन सभी फैन्स को धन्यवाद दिया है।

  • 2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी
    +7और स्लाइड देखें
  • 2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी
    +7और स्लाइड देखें
  • 2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी
    +7और स्लाइड देखें
  • 2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी
    +7और स्लाइड देखें
  • 2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी
    +7और स्लाइड देखें
  • 2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी
    +7और स्लाइड देखें
  • 2 अगस्त 1982 को हुआ था अमिताभ बच्चन का पुनर्जन्म, ऐसी थी कोमा से बाहर आने वाले दिन की पूरी कहानी
    +7और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×