Home »News» Mohnish Does Not Watch Mother Nutan's Films, Cant See Sad Even In Film

BirthDay Special: मां नूतन को दुखी नहीं देख सकते मोहनीश, इसलिए नहीं देखते उनकी फिल्में

नूतन के जन्मदिन पर 2017 में गूगल ने डूडल बनाकर ट्रिब्यूट दिया था। इस डूडल में नूतन के कई सारे इमोशन दिखाए गए थे।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 04, 2018, 05:08 PM IST

  • BirthDay Special: मां नूतन को दुखी नहीं देख सकते मोहनीश, इसलिए नहीं देखते उनकी फिल्में
    +2और स्लाइड देखें
    नूतन ने 1953 से स्विटजरलैंड में एक साल रहकर पढ़ाई की।

    बाॅलीवुड डेस्क। फिल्मों में काम करने वाली पहली मिस इंडिया नूतन अपनी आंखों से संजीदा अभिनय करती थीं। 4 जून 1936 को जन्मीं नूतन ने चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में करियर की शुरुआत की। लेकिन उन्हें असली पहचान 1955 में आयी फिल्म सीमा से मिली। नूतन और लेफ्टिनेंट कमांडर रजनीश के बेटे मोहनीश आज भी फिल्मों और टेलीविजन में सक्रिय हैं, लेकिन नूतन के जाने के बाद से मोहनीश ने उनकी फिल्में देखना हमेशा के लिए छोड़ दीं।


    पैसों के कारण टूटा मां-बेटी का रिश्ता
    - शोभना समर्थ की फिल्म कंपनी में नूतन 30 प्रतिशत की पार्टनर थीं। एक बार इंकम टैक्स देने की बात को लेकर मां-बेटी में कहा-सुनी हो गई थी। शोभना ने पूरा टैक्स भरने के लिए नूतन को कह दिया। जिसके बाद नूतन ने शोभना समर्थ से सारे रिश्ते खत्म कर लिए।
    - 20 साल दाेनों के बीच बातचीत बंद रही। इस मामले को लेकर नूतन और शोभना समर्थ ने एक केस भी कोर्ट में लगाया था। जो 1983 में सैटल हुआ था।
    - नूतन की दादी के बीमार होने पर नूतन अपने घर गईं तब उनके परिवार ने दो दशकों के बाद उनसे बात की थी।

    अपनी शादी बचाने संजीव को मारा थप्पड़
    - नूतन बेटे मोहनीश के जन्म के बाद भी कई सारी फिल्मों में नजर आयीं। उसी दौर में संजीव कुमार के साथ बन ही फिल्म गौरी के दौरान वे संजीव कुमार के करीब होने लगी थीं।
    - जब उन्हें इस बात का अंदाजा हुआ कि उनकी शादी टूट सकती है, तब फिल्म गौरी के सेट पर सबके सामने संजीव कुमार को थप्पड़ मार दिया था।

    ट्रेंड डांसर और सिंगर
    - नूतन एक ट्रेंड डांसर थीं। वहीं उन्होंने संगीत की भी तालीम ली थी। फिल्म यादगार में कल्याणजी-आनंद जी ने उनसे एक गीत गवाया था। जिसमें उनके साथ महेन्द्र कपूर और जूनियर महमूद भी थे।
    - नूतन को कृष्ण भजन लिखने का शौक था, उनकी भजन की एक डायरी हुआ करती थी। नूतन के जाने के बाद शोभना ने कहा था कि उनकी मीरा बाई चली गई।
    - 60 के दशक की फिल्म दिल्ली का ठग स्विमिंग कॉस्ट्यूम पहनकर और बारिश में बोल्ड सीन देकर तहलका मचा दिया था। लेकिन विमल रॉय की बंदिनी और सुजाता ने उनकी बोल्ड इमेज को बदल दिया।

    एक्स्ट्रा शॉट्स
    - महज 14 साल की उम्र में नूतन ने सिनेमा में कदम रखा। फिल्म 1950 में आयी हमारी बेटी थी।
    - 1991 में 54 साल की उम्र में कैंसर की वजह से उनका निधन हो गया।
    - नूतन एनिमल लवर थीं, उनके पास हर समय कोई न कोई पेट डॉग होता था।

  • BirthDay Special: मां नूतन को दुखी नहीं देख सकते मोहनीश, इसलिए नहीं देखते उनकी फिल्में
    +2और स्लाइड देखें
    साल 1952 में नूतन को मिस इंडिया चुना गया।
  • BirthDay Special: मां नूतन को दुखी नहीं देख सकते मोहनीश, इसलिए नहीं देखते उनकी फिल्में
    +2और स्लाइड देखें
    नूतन को 5 बार फिल्म फेयर अवार्ड और पद्मश्री अवार्ड भी मिला।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Mohnish Does Not Watch Mother Nutan's Films, Cant See Sad Even In Film
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×