Home »News» M.Karunanidhi Was Known Scriptwriter In Tamil Film Industry

करूणानिधि की लिखी 'पराशक्ति' से चल निकला था शिवाजी गणेशन का फिल्मी करियर, डेब्यू फिल्म से ही बन गए थे स्टार

एम. करुणानिधि की बतौर स्क्रिप्टराइटर अंतिम फिल्म 'इलाइंगन' 2011 में रिलीज हुई थी जो कि ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 07, 2018, 07:11 PM IST

  • करूणानिधि की लिखी 'पराशक्ति' से चल निकला था शिवाजी गणेशन का फिल्मी करियर, डेब्यू फिल्म से ही बन गए थे स्टार
    +2और स्लाइड देखें

    बॉलीवुड डेस्क.11 दिन से अस्पताल में भर्ती द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) प्रमुख और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि (94) का निधन हो गया है। करुणानिधि 11 दिन से कावेरी अस्पताल में भर्ती थे। यूरिन इंफेक्शन और लो ब्लड प्रेशर की शिकायत के बाद उन्हें 27 जुलाई को चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती किया गया था जहां उन्होंने आखिरी सांस ली। राजनीति में आने से पहले करुणानिधि का फिल्मों से गहरा नाता थावह जाने-माने स्क्रिप्टराइटर थे

    'राजकुमारी' थी डेब्यू फिल्म:करूणानिधि ने बतौर स्क्रीन राइटर तमिल फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा था। तब उनकी उम्र केवल 20 वर्ष थी। उन्होंने फिल्म 'राजकुमारी' का स्क्रीनप्ले लिखा था। 1952 में आई 'पराशक्ति' की कहानी लिखने का भी श्रेय करुणानिधि को ही जाता है। इसमें द्रविड़ विचारधारा को दिखाए जाने की वजह से फिल्म पर काफी विवाद हो गया था जिसके चलते इसे शुरुआत में बैन कर दिया गया था। आरोप थे कि फिल्म में हिंदू धर्म और ब्राह्मणों का अपमान किया गया था। हालांकि, बाद में सेंसरबोर्ड से क्लीयरेंस के बाद इसे रिलीज़ कर दिया गया जिसके बाद यह हिट हो गई थी।

    -इस फिल्म के बाद शिवाजी गणेशन बहुत बड़े स्टार बन गए थे। यह उनकी डेब्यू फिल्म थी। इसी तरह एमजीआर को स्टार बनाने में भी करूणानिधि का ही हाथ था। उन्होंने उनकी डेब्यू फिल्म 'मंथिरी कुमारी' का स्क्रीनप्ले लिखा था। इस फिल्म के बाद एमजीआर का सितारा चमक गया था। यही फिल्म अमेरिकन फिल्म डायरेक्टर एलिस डंगन की अंतिम फिल्म थी जिन्होंने तमिल सिनेमा को स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

    लिख चुके थे 75 स्क्रीनप्ले: उनके द्वारा लिखी गई 75 पटकथाओं में राजकुमारी, अबिमन्यु, मंदिरी कुमारी, मरुद नाट्टू इलवरसी, मनामगन, देवकी, पराशक्ति, पनम, तिरुम्बिपार आदि शामिल हैं।

    -उन्होंने मनिमागुडम, ओरे रदम, पालानीअप्पन, तुक्कु मेडइ, कागिदप्पू, नाने एरिवाली, वेल्लिक्किलमई, उद्यासूरियन और सिलप्पदिकारम नाटक लिखे।

    -1997 में आई फिल्म इरुवर करूणानिधि और एमजीआर की बॉन्डिंग पर ही आधारित थी।

  • करूणानिधि की लिखी 'पराशक्ति' से चल निकला था शिवाजी गणेशन का फिल्मी करियर, डेब्यू फिल्म से ही बन गए थे स्टार
    +2और स्लाइड देखें
    पराशक्ति में शिवाजी गणेशन
  • करूणानिधि की लिखी 'पराशक्ति' से चल निकला था शिवाजी गणेशन का फिल्मी करियर, डेब्यू फिल्म से ही बन गए थे स्टार
    +2और स्लाइड देखें
    मंथिरी कुमारी में एमजीआर
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×