Home »News» Kishore Kumars Interesting 4 Facts

घर के बाहर लगवा रखा था 'किशोर कुमार से सावधान' का बोर्ड: किशोर कुमार के सनकीपन के 4 किस्से

किशोर कुमार ने 81 फिल्मों में अभिनय किया और लगभग 18 फिल्मों का निर्देशन किया।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 04, 2018, 01:08 PM IST

घर के बाहर लगवा रखा था 'किशोर कुमार से सावधान' का बोर्ड: किशोर कुमार के सनकीपन के 4 किस्से

बॉलीवुड डेस्क. किशोर कुमार की 4 अगस्त को 89वीं बर्थ एनिवर्सरी है। अपनी बेहतरीन आवाज के अलावा किशोर दा अपनी सनक के लिए भी मशहूर थे। उनकी सनक के एक से बढ़कर एक सैकड़ों किस्से हैं। जिनसे सामने वाला चाहे कितना भी परेशान क्यों न हुआ हो, लेकिन आज के लोग सुनें तो हंसे बगैर नहीं रह पाएंगे। हम ऐसे ही कुछ किस्से बता रहे हैं।

1) जब ऋषिकेश मुखर्जी को वाचमैन ने भगा दिया: एक बार की बात है। एक प्रोजेक्ट के सिलसिले में जाने-माने निर्देशक किशोर कुमार से मिलने उनके घर गए थे लेकिन उनके वाचमैन ने उन्हें घर में घुसने से रोक दिया था और वहां से बेइज्जत करके भगा दिया था। दरअसल,ऐसा एक कंफ्यूजन के चलते हुआ था। किशोर कुमार ने एक बंगाली ऑर्गनाइजर के लिए शो किया था जिसने उन्हें पैसे नहीं चुकाए थे। गुस्से में आकर किशोर कुमार ने अपने गेटकीपर को सख्त हिदायत दे रखी थी कि अगर कोई बंगाली बाबू घर पर आए तो उसे भगा देना। ऋषिकेश मुखर्जी भी बंगाली थे और गेटकीपर ने उन्हें वही स्टेज शो ऑर्गनाइजर समझकर भगा दिया था।

2) किशोर कुमार से सावधान: लोग अक्सर घरों में कुत्ते से सावधान का बोर्ड लगाते हैं लेकिन किशोर कुमार ने अपने घर के बाहर 'किशोर कुमार से सावधान' का बोर्ड लगवा कर रखा था।एक बार प्रोड्यूसर-डायरेक्टर एचएस रवैल उन्हें पैसे चुकाने घर गए।पैसे देने के बाद जब वह किशोर कुमार से हाथ मिलाने लगे तो उन्होंने रवैल का हाथ मुंह में डाला और काटने लगे,यह देखकर रवैल सकपका गए तो किशोर बोले-क्या आपने साइनबोर्ड नहीं देखा?


3) सीन खत्म होने के बावजूद घंटों बैठे रहे कार में: किशोर कुमार की अजीबोगरीब हरकतों से परेशान एक डायरेक्टर ने कोर्ट की मदद मांगी थी।उसने बाकायदा कोर्ट से एक एग्रीमेंट लिया ताकि अगर शूटिंग के दौरान किशोर उनकी बात न मानें तो वह उनपर केस कर सके। अगले दिन जब किशोर शूटिंग के लिए सेट पर पहुंचे और जैसा डायरेक्टर ने कहा वैसा ही करते रहे। एक शॉट के दौरान वह कार से सिर्फ इसलिए बाहर नहीं निकले क्योंकि डायरेक्टर ने उन्हें ऐसा बाहर निकलने के लिए नहीं बोला था। इसी फिल्म के एक और कार सीन में डायरेक्टर ने समझाया था-आपको कार से थोड़ी दूर तक जाना है और फिर उतर जाना है,सीन कट हो जाएगा लेकिन आगे जाकर किशोर दा कार से नहीं उतरे। उधर डायरेक्टर इंतजार करता रहा। अगले दिन पता चला वह कार से खंडाला चले गए थे।


4) घर में लगवा रखे थे खोपड़ी और हड्डियां: किशोर दा को लाइमलाइट में रहना और मीडिया अटेंशन पाना बिलकुल पसंद नहीं था। वह एकांत में समय बिताना पसंद करते थे और इंटरव्यू देने से नफरत करते थे। लोग उनसे मिलने कम आएं इसलिए उन्होंने अपने घर के लिविंग रूम में खोपड़ी और हड्डियां लगवा ली थीं, साथ ही कमरे में रेड लाइट लगा रखी थी जिससे लोग डर के मारे घर न आएं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप

Trending

Top
×