Home »News» Kareena Kapoor Blasted On Social Media Users

बेटे को वक्त न देने के सवाल पर भड़कीं करीना, बोलीं- मुझे ढिंढोरा पीटने की जरूरत नहीं

करीना ने कहा कि अगर वे तैमूर को गोद में लिए नहीं दिखतीं तो इसका मतलब यह नहीं कि वे उसे वक्त नहीं देतीं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 13, 2018, 02:12 PM IST

बेटे को वक्त न देने के सवाल पर भड़कीं करीना, बोलीं- मुझे ढिंढोरा पीटने की जरूरत नहीं
- बेटे तैमूर को वक्त न देने के सवाल पर भड़कीं करीना।
- करीना बोलीं- बेटे के साथ बिताया वक्त सिर्फ मेरा होता है।
- मुझे ढिंढोरा पीटकर बताने की जरूरत नहीं कि बेटे के साथ कैसा रिश्ता है: करीना
>

मुंबई.करीना कपूर की कमबैक फिल्म 'वीरे दी वेडिंग' बॉक्सऑफिस पर सुपरहिट हो चुकी है। फिल्म ने अब तक 70 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई कर ली है। यह करीना और उनकी को-स्टार्स सोनम कपूर, स्वरा भास्कर और शिखा तलसानिया की मेहनत का कमाल है। चारों ने फिल्म के प्रमोशन में कोई कसर नहीं छोड़ी। हालांकि, सोशल मीडिया यूजर करीना पर सवाल उठा रहे हैं कि वे फिल्म के प्रमोशन में ऐसी खो गई हैं कि अपने बेटे तैमूर को वक्त नहीं दे रहीं। हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान वे ऐसे सोशल मीडिया यूजर्स पर भड़क उठीं। करीना बोलीं- बेटे के साथ कैसा रिश्ता है, इस बात का ढिंढोरा पीटने की जरूरत नहीं...

- करीना ने इंटरव्यू के दौरान कहा, "बेटे के साथ बिताया समय सिर्फ मेरा है और इसे लेकर मुझे न सोशल मीडिया यूजर्स को जवाब देने की जरूरत है और न ही किसी और को पब्लिकली बताने की आवश्यकता है। अगर मैं उसके साथ फोटो शेयर नहीं करती या फिर एयरपोर्ट पर उसे गोद में रखे दिखाई नहीं देती तो इसका यह मतलब यह नहीं है कि मैं उसे वक्त नहीं देती। मैं क्वांटिटी से ज्यादा क्वालिटी में यकीन रखती हूं। मुझे ढिंढोरा पीटकर यह बताने की जरूरत नहीं है कि तैमूर के साथ मेरा रिश्ता कैसा है। ऐसा बिल्कुल नहीं कि कामकाजी माएं अपने बच्चों के साथ वक्त नहीं बितातीं।"
नॉर्मल बच्चे की तरह करना चाहती हैं तैमूर की परवरिश
- करीना ने कुछ दिन पहले कहा था कि वे अपने बेटे की परवरिश नॉर्मल बच्चे की तरह करना चाहती हैं। हालांकि, वे यह भी कहती हैं कि आज के दौर में ऐसा संभव नहीं है। इसलिए वे ज्यादा नहीं सोचतीं। एक अंग्रेजी वेबसाइट से बातचीत उन्होंने बताया था, " जब मीडिया के लोग तैमूर को बुलाते हैं तो वे भी रिएक्शन देने लगते हैं। ये बहुत ही मुश्किल परिस्थिति होती है। हम लोग कैसे इसे मैनेज कर रहे हैं, ये हम भी नहीं जानते। हम खुद भी नहीं चाहते हैं कि तैमूर पांच-पांच बॉडीगार्ड के साए में रहें। क्योंकि हमारा (करीना और सैफ का) बचपन इस तरह नहीं बीता।"

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: bete ko waqt n dene ke sawal par bhड़kin karinaa, bolin- mujhe dhindhoraa pitne ki jrurt nahi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×