Home »News» Actor Irrfan Khan Gave Health Update After Fourth Session Of Chemo From London

मैं कुछ महीनों में मर सकता हूं, जिंदगी मुझे बहुत मौका दे रही है - कैंसर से जूझ रहे इरफान खान बोले

इरफान खान की हॉलीवुड फिल्म 'पजल' इसी हफ्ते रिलीज हो रही है। जिसमें उनके साथ कैली मैकडोनाल्ड ने काम किया है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Aug 02, 2018, 04:55 PM IST

मैं कुछ महीनों में मर सकता हूं, जिंदगी मुझे बहुत मौका दे रही है - कैंसर से जूझ रहे इरफान खान बोले

बॉलीवुड डेस्क. लंदन में न्यूराेएंडोक्राइन कैंसर का इलाज करा रहे इरफान खान की सेहत में सुधार हो रहा है। हाल ही में इरफान ने एसोसिएटेड प्रेस को एक इंटरव्यू दिया, जिसमें उन्होंने अपना हेल्थ अपडेट दिया है। साथ ही उनकी आने वाली हॉलीवुड फिल्म 'पजल' के बारे में भी बात की, जो लॉस एंजिल्स सहित 11 शहरों में रिलीज हो रही है।

कीमो के तीन सेशन हुए पूरे : इरफान ने बताया - "कीमो के कुल छह सेशन में से चौथा सेशन कम्पलीट हुआ है। छह सेशन पूरे होने के बाद फिर से हमें कैंसर स्कैन करने की जरूरत होगी। हालांकि तीसरे सेशन के बाद स्कैन का रिजल्ट पॉजीटिव आया। लेकिन फिर भी हमें छठे सेशन का रिजल्ट देखना हाेगा। उसके बाद पता हम देखेंगे कि यह रिजल्ट मुझे कहां ले जाता है।"

- किसी भी इंसान के जीवन की कोई गांरटी नहीं है। मेरा दिमाग हमेशा मुझसे कहता है कि- मुझे यह बीमारी है और मैं कुछ महीनों में, एक या दो साल में मर सकता हूं।" या फिर में अपने दिमाग से की गई इस बातचीत को पूरी तरह खारिज करके उस तरह जी सकता हूं, जिस तरह जिंदगी मुझे जीने का रास्ता दे रही है, और वाकई जिंदगी मुझे बहुत मौका दे रही है। मैं मानता हूं कि चारों ओर अंधकार भरे रास्ते पर मैं चल रहा हूं, मैं नहीं देख सकता कि जिंदगी मुझे क्या दे रही है।

- आप सोचना रोकिए, योजना बनाना छोड़िए और शोर को भी, तब आप जिंदगी के दूसरे पहलू को देखते हैं कि वह बहुत कुछ दे रही है। यही कारण है कि मुझे लगता है कि मेरे पास कोई अन्य शब्द नहीं है लेकिन शुक्रिया। कोई अन्य शब्द नहीं है। कोई डिमांड नहीं है। कोई और दूसरी रिक्वेस्ट भी नहीं है। "

इरफान ने कहा कोई प्लान नहीं :एसोसिएटेड प्रेस को दिए इंटरव्यू में इरफान ने कहा कि- "मैं इन दिनों कोई स्क्रिप्ट नहीं पढ़ रहा हूं। यह सच और भ्रम का असल अनुभव है। मेरे दिनों का कोई प्रिडिक्शन नहीं है। मुझे लगता था कि मेरा जीवन ऐसा ही होगा, लेकिन मैं कभी इसकी प्रैक्टिस नहीं कर सकता था। ये जो अब हुआ है, उसके लिए मेरे पास प्लान नहीं है। मैं सुबह ब्रेकफास्ट के लिए जाता हूं, उसके बाद कोई प्लान नहीं होता। चीजें जिस तरह मेरे पास आ रही हैं, मैं उन्हें वैसे ही ले रहा हूं।

- इससे मुझे बहुत मदद मिली है, मैं अब कोई प्लान नहीं बनाता। यह अनुभव मुझे अच्छा लग रहा है। मेरी लाइफ में कुछ कमी थी। मैंने उसे खुद ही नष्ट किया, मैंने उसके साथ बेईमानी की, यही मुझे परेशान कर रहा है। और मुझे लगता है कि इसी सहजता को मैं मिस कर रहा था। मैं जानता हूं क्योंकि जिस दुनिया में हम हैं, वह योजनाअों से भरी है। यह सच नहीं है। आप जिंदगी ऐसे कैसे जी सकते हैं। लेकिन जिंदगी रहस्यमयी है और बहुत कुछ देती है, हम उसे लेने की कोशिश नहीं करते। मैं इसे प्यार करने की कोशिश कर रहा हूं। "

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप

Trending

Top
×