Home »News» China Is A New Market For Indian And Bollywood Emotional Movies To Get Block Buster

बॉलीवुड फिल्मों का नया बाजार चीन जहां हिंदी की इमोशनल फिल्में हो रही हैं ज्यादा हिट

60 करोड़ में बनी आमिर खान की सीक्रेट सुपरस्टार ने चीन में 700 करोड़ कमाए हैं।

सनूप सहदेवन | Last Modified - Aug 12, 2018, 11:24 AM IST

बॉलीवुड फिल्मों का नया बाजार चीन जहां हिंदी की इमोशनल फिल्में हो रही हैं ज्यादा हिट

मुंबई. पिछले साल जानी-मानी चाइनीज़ एक्ट्रेस चेंग पीपी ने उस समय सबको चौंका दिया जब उन्होंने कहा कि मैंने केवल एक भारतीय फिल्म देखी है- और वह है दंगल। उन्हें यह फिल्म इतनी पसंद आई कि वे इसे दोबारा अपनी बेटी को दिखाने ले गईं। चेंग ने दैनिक भास्कर से बात करते हुए कहा कि यह एक पॉजिटिव फिल्म है और इसमें ड्रामा भी है। चेंग उन चीनी दर्शकों में हैं जो अब बॉलीवुड की फिल्में चाव से देख रहे हैं। अगस्त 2018 के आखिर में सलमान खान की 'सुल्तान' भी वहां रिलीज होने वाली है। अल्ट्रा मीडिया एंड एंटरटेनमेंट कंपनी के सीईओ सुशील कुमार अग्रवाल कहते हैं कि 'दंगल' से चीन में भारतीय फिल्मों को पहचान मिली है।

इमाेशनल सबजेक्ट चाइना को पसंद :फिल्म प्रदर्शक अक्षय राठी बताते हैं कि चीन में बाहुबली जैसी फिल्म नहीं चली जबकि दंगल और सीक्रेट सुपरस्टार ने अच्छा बिजनेस किया। इसका कारण है कि दंगल में आमिर ने जैसे पिता का किरदार किया है, वैसे ही सख्त पिता चीन में होते हैं। चीनी ऑडियंस को लड़कियों-महिलाओं के मुद्दे काफी पसंद आते हैं। यही कारण है सीक्रेट सुपरस्टार भी वहां सफल रही। आमिर खान इस बात से इत्तेफाक रखते हैं।

- गौरतलब है कि आमिर खान ने भास्कर को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि- "मैं अपने अनुभव से यह कह सकता हूं कि भारतीय और चीनी एक जैसे इमोशनल नोट्स को शेअर करते हैं। हम एक जैसी इमोशनल चीजें पसंद करते हैं।"

पायरेसी से शुरू हुआ ट्रेंड :चीन में भारतीय फिल्मों के हिट होने का ट्रेंड 2011 में आया। इस समय आमिर खान की फिल्म 'थ्री इडियट्स' पायरेसी के माध्यम से चीन पहुंची। उस समय यह ताइवान और हॉन्गकॉन्ग में भी काफी प्रसिद्ध थी। हालांकि चीन के थिएटर में जब यह रिलीज हुई तो अच्छा बिजनेस नहीं कर पाई।

- 2014 में जब चीनी राष्ट्रपति ने भारत का दौरा किया तो भारत और चीन में को-प्रोडक्शन एग्रीमेंट हुआ। इसके बाद धूम-3 और हैप्पी न्यू ईयर चीन में रिलीज की गई।


इन फिल्मों ने किया अच्छा बिजनेस

फिल्मकमाईस्क्रीन्स
दंगल1000 करोड़ रु.9000
सीक्रेट सुपरस्टार760 करोड़ रु.11000+
बजरंगी भाईजान295 करोड़ रु.8000
हिंदी मीडियम220 करोड़ रु.18000

(आंकड़े निर्माताओं के अनुसार हैं। )

हमारी फैमिली वैल्यूज़ भी एक जैसी : इरोज प्रोडक्शन की अमिता नायडू कहती हैं कि सलमान की बजरंगी भाईजान ने भी चीन में अच्छा बिजनेस किया है। इसका भी कारण यही है कि फिल्म ने चीनी दर्शकों के मन को छुआ। चीनी दर्शक एक्शन फिल्मों के लिए अपनी लोकल फिल्मों और हॉलीवुड को पसंद करते हैं। उन्हें भारतीय फिल्मों से ह्यूमन ड्रामा और अच्छा म्यूजिक चाहिए रहता है।

- फिल्म हिंदी मीडियम के निर्माता भूषण कुमार कहते हैं कि मैं अप्रैल में ही चीन गया था। वहां अपनी फिल्म के लिए दर्शकों को हंसता, रोता और कैरेक्टर से कनेक्ट होते देखा। यह मेरे लिए बड़ी लर्निंग है। चीन में अभी शुरुआत है। हम आगे भी ऐसा कर सकते हैं।

जाे उनको हो पसंद :हालांकि ट्रेड विश्लेषक अमोद मेहरा कहते हैं कि ऐसा नहीं है कि हमने चीनी बाजार में पकड़ बना ली है। केवल आमिर खान हैं जो वहां पर लगातार सफल रहे हैं। वहां पर विदेशी फिल्में रिलीज करने की भी बहुत सख्ती है। हमें उनसे फिल्म स्क्रीनिंग के लिए अप्रूवल लेना पड़ता है। वे वही फिल्में पास करेंगे जो उनको सूट करती हैं।

- कोमल नाहटा कहते हैं कि स्टूडियोज़ और प्रोडक्शन हाउस चीनी दर्शकों को सूट करने वाली फिल्मों को बनाने की कोशिश कर रहे हैं। निर्देशक कबीर खान (जू कीपर) और सिद्धार्थ आनंद (लव इन बीजिंग) भी इंडो-चाइनीज प्रोडक्शन के तहत फिल्म निर्देशित कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप

Trending

Top
×