Home »Reviews »Movie Reviews» Movie Review : 'Tanu Weds Manu Returns'

Movie Review@तनु वेड्स मनु रिटर्न्स: किरदार फिट, कहानी सुपरहिट

'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' की जान है इसकी कहानी।

dainikbhaskar.com | Last Modified - May 22, 2015, 11:19 AM IST

  • फिल्म का नामतनु वेड्स मनु रिटर्न्स

    क्रिटिक रेटिंग

    3.5/5

    स्टार कास्ट

    कंगना रनोट, आर माधवन, जिमी शेरगिल,
    स्वरा भास्कर, दीपक डोबरियाल, जीशान अयूब

    डायरेक्टर

    आनंद एल राय

    प्रोड्यूसर

    किशोर लुल्ला, आनंद एल राय

    म्यूजिक डायरेक्टर

    कृष सोलो, वायु और तनिष्क

    जॉनर

    रोमांटिक कॉमेडी

    कंगना रनोट और आर माधवन स्टारर फिल्म 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' रिलीज हो गई है। यह फिल्म 2011 में आई डायरेक्टर आनंद एल राय की सुपरहिट फिल्म 'तनु वेड्स मनु' की सीक्वल है। पिछली फिल्म में ढेर सारे झगड़े उलट-पलट के बाद तनु, मनु की दुल्हनिया बन जाती हैं। फिल्म की सीक्वल में शादी के चार साल बाद दोनों का रिश्ता क्या नया मोड़ लेता है, इसे बड़े पर्दे पर शानदार ढंग से ट्विस्ट एंड टर्न्स डाल कर, दर्शकों के सामने परोसा गया है।

    कहानी:
    लंदन में रह रहे तनु (कंगना रनोट) और मनु (आर माधवन) शादी के चार साल बाद तलाक लेने का फैसला करते हैं और अलग-अलग भारत वापस लौट आते हैं। मनु को उम्मीद है कि तनु सुधर जाएगी और उनका घर दोबारा बस जाएगा। इधर 'घनी बावरी' हुई तनु अपने पुराने आशिकों के साथ टाइमपास शुरू कर देती हैं। उधर मनु का दिल हरियाणवी एथलीट दत्तो (कंगना रनोट) पर आ जाता है। पहले नजर में देखते ही मनु, दत्तो को दिल दे बैठते हैं।
    इसी तरह कहानी में पति-पत्नी और वो की एंट्री होती है। मनु अपनी बोल्ड एंड बिंदास बीवी तनु से तलाक चाहता है। वहीं, दत्तो के साथ शादी करने के सपने देखता है। इस कशमकश में कहानी किस परिस्थितियों में आगे बढ़ती है, यह जानने के बाद आपको फिल्म देखनी होगी।
    फिल्म की खासियत:
    फिल्म की जान इसकी स्क्रिप्ट है। हिमांशु शर्मा ने बढ़िया कहानी लिखी है। डायलॉग्स भी आपको हंसने पर मजबूर कर देंगे। 'मैं कोई संतरा हूं कि रस भर जाएगा' या 'शर्मा जी हम थोड़ा बेवफा क्या हुए आप तो बदचलन हो गये' या 'पिछली बार भैया दूज पर सेक्स किया था' ऐसे डायलॉग्स सुन हंसी छूट जाती है। स्क्रीनप्ले भी उम्दा है।
    एक्टिंग:
    कंगना ने एक बार फिर अपनी दमदार एक्टिंग दिखाई है। दत्तो और तनु दोनों ही किरदार उन्होंने शिद्दत से निभाए हैं, जो एंटरटेन करते हैं। खासकर हरियाणवी एथलीट के रोल में कंगना ने कमाल किया है। वहीं माधवन ने भी पति और प्रेमी दोनों का किरदार बखूबी प्ले किया है। उनकी कॉमिक टाइमिंग और डायलॉग डिलिवरी सटीक है। फिल्म में कुछ नए किरदारों को भी जोड़ा गया है।
    इनमें से एक हैं जीशान अयूब हैं जिन्होंने अपनी एक्टिंग स्किल से इम्प्रेस किया है, वहीं स्वरा भास्कर का रोल इस फिल्म में उतना प्रभावशाली नहीं है। जिमी शेरगिल ने भी रोल को बखूबी निभाया है। पप्पी बने दीपक डोबरियाल अपने डायलॉग्स से खूब हंसाते हैं मगर कहीं-कहीं उनकी एक्टिंग थोड़ी ओवर लगती है।

    म्यूजिक:
    फिल्म के गाने पहले ही चार्ट-बस्टर लिस्ट पर छाए और दर्शकों की जुबान पर चढ़े हुए हैं। 'स्वैगर', 'मूव ऑन', 'घनी बावरी' सभी गाने फिल्म की कहानी के मुताबिक परफेक्ट लगते हैं।
    क्यों देखें:
    फिल्म के किरदार से ज्यादा जानदार है इसकी कहानी। कंगना का चुलबुलापन, माधवन की सादगी, बेहतरीन म्यूजिक और लाजवाब डायरेक्शन के चलते, आप बेशक इस फिल्म को देख सकते हैं।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×