Home »Reviews »Movie Reviews» Shamitabh : MOVIE REVIEW

MOVIE REVIEW: कुछ नया देखना चाहते हैं तो देखें 'षमिताभ'

षमिताभ दो कलाकारों के साथ और टकराव पर आधारित ड्रामा है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 06, 2015, 08:55 AM IST

  • (धनुष और अमिताभ बच्चन)

    फिल्म का नामषमिताभ
    क्रिटिक रेटिंग3/5
    मुख्य कलाकारअमिताभ बच्चन, धनुष और अक्षरा हासन
    डायरेक्टरआर बाल्की
    प्रोड्यूसरसुनील लुल्ला और आर बाल्की
    म्यूजिक डायरेक्टरइलैयाराजा
    जेनरड्रामा
    इस शुक्रवार सिनेमाघरों में फिल्म 'षमिताभ' रिलीज हुई है। बॉक्स ऑफिस पर 'चीनी कम' (2007) और 'पा' (2009) जैसी सक्सेसफुल फिल्में दे चुके डायरेक्टर आर बाल्की एक बार फिर दर्शकों के लिए कुछ नया लाए हैं।

    क्या है फिल्म की कहानी

    फिल्म की कहानी दो कलाकारों के साथ और टकराव पर आधारित है। एक दानिश (धनुष) और दूसरा अमिताभ सिन्हा (अमिताभ बच्चन)। दानिश एक छोटे शहर का लड़का है, जो बोल नहीं सकता, लेकिन एक्टिंग बहुत अच्छी करता है। मां के निधन के बाद स्टार बनने का सपना लिए वह मायानगरी यानी मुंबई आ जाता है। यहां उसकी मुलाकात असिस्टेंट डायरेक्टर अक्षरा (अक्षरा हासन) से होती है, जो उसमें एक्टर बनने की सभी क्वालिटीज देखती है। दानिश को हीरो बनाने के लिए अक्षरा एक ऐसी टेक्नोलॉजी का सहारा लेती है, जिसके अंतर्गत गले के अंदर एक वॉइस प्रोसेसर की मदद से (अपने आसपास 400 मीटर के दायरे में मौजूद) किसी भी इंसान की आवाज को कॉपी कर सकता है। कहानी में असली मोड़ तब आता है, जब अक्षरा दानिश को अमिताभ सिन्हा (जो आदतन शराबी है) से मिलवाती है। अमिताभ दानिश को अपनी आवाज देता है, जिसके बाद दानिश रातोंरात सुपरस्टार बन जाता है। दानिश की इस तरक्की से अमिताभ को जलन होने लगती है, वहीं दानिश भी अपनी कामयाबी पर इठलाने लगता है। फाइनली, अपने-अपने ईगो के चलते ये दोनों कलाकार एक दूसरे से अलग हो जाते हैं। हालांकि, जब अक्षरा उन्हें इस बात का एहसास होता है कि वे एक-दूसरे के बगैर अधूरे हैं तो वे फिर एक साथ आकर काम करते हैं। कहानी में और क्या-क्या मोड़ आते हैं, यह देखने के लिए आपको सिनेमाघरों का रुख करना होगा|

    कैसा है आर बाल्की का डायरेक्शन

    'चीनी कम' और 'पा' के बाद एक बार फिर आर बाल्की ने अपनी निर्देशन कला का सशक्त प्रदर्शन किया है। उन्होंने अब तक तीन फिल्में निर्देशित की हैं और तीनों में अमिताभ बच्चन का अहम रोल है। 'षमिताभ' में उन्होंने (बिग बी) के किरदार को बखूबी लोगों के सामने रखा है। एक की एक्टिंग और दूसरे की आवाज का जो तालमेल आर बाल्की ने बैठाया है, वह वाकई काबिले तारीफ है।

    आगे की स्लाइड में पढ़ें फिल्म का शेष रिव्यू...

  • कैसी है एक्टिंग

    अमिताभ बच्चन अपनी एक्टिंग के चलते ही बॉलीवुड में महानायक कहे जाते हैं। षमिताभ में उन्होंने शराबी और मस्तमौला अमिताभ सिन्हा के किरदार को बखूबी जिया है। 'रांझणा' के बाद धनुष की यह दूसरी हिंदी फिल्म है। उन्होंने अपनी ओर से दर्शकों को लुभाने की जी तोड़ कोशिश की है, लेकिन बिग बी के सामने वे फीके नजर आते हैं। अक्षरा हासन की यह डेब्यू फिल्म है। उन्होंने अच्छी एक्टिंग का परिचय देने की कोशिश की है। हालांकि, कई जगह वे कमजोर पड़ती दिखती हैं।


    देखें या नहीं

    आर बाल्की दर्शकों के लिए कुछ न कुछ नया देने की कोशिश करते हैं। यदि आप एक ही तरह की फिल्में देखकर ऊब गए हैं और कुछ नया देखना चाहते हैं तो 'षमिताभ' आपके लिए है। इसके अलावा अमिताभ बच्चन के फैन्स को भी इसमें उनका एक नया अवतार देखने को मिलेगा। कुल मिलाकर कम से कम एक बार तो इस फिल्म को देखा ही जा सकता है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×