Home »Reviews »Movie Reviews» Review Of Shoojit Sircar Film Piku

VIDEO@MOVIE REVIEW: मोशन के जरिए इमोशन दिखाती 'PIKU'

Dainikbhaskar.com | May 08, 2015, 03:46 PM IST

Critics Rating
  • Genre: फैमिली ड्रामा
  • Director: सुजीत सरकार
  • Plot: ‘मद्रास कैफे’ और ‘विक्की डोनर’ जैसी उम्दा फिल्म बनाने वाले निर्देशक शुजित सरकार अब ‘पिकू’ के रूप में एक मार्मिक और खूबसूरत पारिवारिक कहानी लेकर आए हैं।
(फोटो- अमिताभ बच्चन के साथ दीपिका पादुकोण)
फिल्म का नामपिकू
क्रिटिक रेटिंग3.5/5
स्टार कास्टअमिताभ बच्चन, दीपिका पादुकोण और इरफान खान
डायरेक्टरशुजित सरकार
प्रोड्यूसरएन.पी.सिंह, रोनी लहरी
संगीतअनुपम रॉय
जॉनरफैमिली ड्रामा
‘मद्रास कैफे’ और ‘विक्की डोनर’ जैसी उम्दा फिल्म बनाने वाले निर्देशक शुजित सरकार अब ‘पिकू’ के रूप में एक हार्ट टचिंग फैमिली मूवी लेकर आए हैं।
'पिकू' की कहानी
फिल्म की कहानी दिल्ली के चितरंजन पार्क में रहने वाली पिकू की है। पिकू के पिता बाबा उर्फ़ भास्कर बनर्जी (अमिताभ बच्चन) हैं। 70 साल के भास्कर बनर्जी को कन्सटिपेशन (कब्ज़) है और हर वक्त वह इसी के बारे में बात करते हैं। पेशे से आर्किटेक्ट बेटी पर उनकी देखभाल का जिम्मा है, क्योंकि उनकी पत्नी का देहांत हो चुका है।
पिता की देखभाल में बिजी पिकू की कोई पर्सनल लाइफ नहीं है। 30 साल की हो चुकी पिकू की उसके पिता शादी भी नहीं कराना चाहते, क्योंकि वह अपनी बेटी से दूर नहीं होना चाहते। वह लड़कों के सामने पिकू का इंट्रोडक्शन कुछ इस तरह कराते हैं- ''Piku is not a virgin and is financially and sexually independent" ताकि बात आगे न बढ़ सके। एक दिन भास्कर पिकू से अपने होम टाउन कोलकाता जाने की इच्छा जाहिर करते हैं और शुरू होती है एक जर्नी।
इस जर्नी में पिकू और उनके बाबा का साथ देते हैं राणा चौधरी (इरफ़ान खान) जो कैब सर्विस के मालिक हैं। पिकू और उनके पिता के अक्खड़ रवैये के कारण कोई भी ड्राइवर इस ट्रिप पर जाने को राजी नहीं होता। ऐसे में, राणा उन्हें इस ट्रिप पर ले जाता है।
फिल्म का डायरेक्शन
‘विक्की डोनर’ और ‘मद्रास कैफे’ बनाने के बाद दर्शकों कीशुजित सरकार से उम्मीदें काफी बढ़ गई थीं। इस फिल्म के जरिए शुजित ने उन्हें निराश नहीं होने दिया है। सुजीत ने किरदारों को बेहतरीन तरीके से पेश किया है।
फिल्म की कहानी और डायलॉग्स काफी उम्दा हैं। 'मोशन के जरिए इमोशन' की फिल्म टैगलाइन को शुजित ने बहुत ही बढ़िया तरीके से प्रस्तुत किया है।
वैसे, 'पिकू' के जरिए शुजित ने बेहतरीन पारिवारिक कहानी तो पेश की, लेकिन फिल्म की रफ्तार थोड़ी धीमी कर दी। फिल्म की कहानी जूही चतुर्वेदी ने लिखी है।
एक्टिंग
'पिकू' में अमिताभ बच्चन, दीपिका पादुकोण और इरफान खान की एक्टिंग बेहतरीन है। अमिताभ बच्चन ने एक बार फिर जता दिया कि उन्हें महानायक यूं ही नहीं कहा जाता। 70 साल के भास्कर बनर्जी के किरदार को जीवंत बनाने में उन्होंने कोई कसर नहीं छोड़ी। कभी उनका मस्ती करना तो कभी बात-बात पर बहस करना आपको घर के बड़े-बुजुर्गों की याद दिला देगा।
वहीं, दीपिका ने इस फिल्म में अपने करियर की अब तक की बेस्ट परफॉर्मेंस दी है। उन्होंने हरेक सीन को खूबसूरती से निभाया है। अपने रोल से उन्होंने युवाओं को प्रेरणा दी कि हमारे पेरेंट्स हमारे लिए कितने अहम हैं। इरफान खान की एक्टिंग भी बढ़िया है। इनके अलावा, डॉक्टर के रूप में रघुबीर यादव और मौसी के किरदार में मौसमी चटर्जी ने बढ़िया अभिनय किया है।
म्यूजिक
फिल्म में सारे गाने बैकग्राउंड में सुनाई देते हैं और कहानी के साथ घुल-से जाते हैं। अनुपम रॉय का म्यूजिक सिंपल मगर टचिंग है।
क्यों देखें फिल्म
सिल्वर स्क्रीन पर लंबे अरसे के बाद एक ऐसी फैमिली फिल्म आई है, जो आपको पसंद आएगी। कुछ फ्रेश, इमोशनल और दिल को छू लेने वाली कहानी देखना चाहते हैं तो इस फिल्म को एक बार देखें।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: review of Shoojit Sircar film Piku
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×