Home »Reviews »Movie Reviews» Poster Boys Review

18वी सदी की कॉमेडी से 21वी सदी में हंसाने की कोशिश करती है ‘पोस्टर ब्वॉयज’

dainikbhaskar.com | Mar 30, 2018, 11:41 PM IST

18वी सदी की कॉमेडी से 21वी सदी में हंसाने की कोशिश करती है ‘पोस्टर ब्वॉयज’
Critics Rating
  • Genre: कॉमेडी ड्रामा
  • Director: श्रेयस तलपड़े
  • Plot: अगर आप सनी, बॉबी के बहुत बड़े फैन हैं तो ही इस फिल्म को देखें। नहीं तो अच्छा होगा कि टीवी पर आने का वेट कर लें...

रेटिंग2/5
स्टार कास्टसनी देओल, बॉबी देओल, श्रेयस तलपड़े, समीक्षा भटनागर
डायरेक्टरश्रेयस तलपड़े
म्यूजिकतनिष्क बागची
प्रोड्यूसरश्रेयष तलपड़े, सनी साउंड, दीप्ती तलपड़े
जॉनरकॉमेडी ड्रामा

एक्टर श्रेयष तलपड़े ने फिल्म एक्टिंग करने के साथ-साथ इसे डायरेक्ट भी किया है। जैसा कि सभी जानते हैं फिल्म 'Poshter Boyz' का रीमेक है। तो हिन्दी में कैसी बनी ये फिल्म आइए जानते हैं...


कहानी
फिल्म की कहानी एक गांव में रहने वाले तीन लोगों जागवार चौधरी(सनी देओल), विनय शर्मा(बॉबी देओल) और अर्जुन सिंह(श्रेयष तलपड़े) की है। गलती से इन तीनों की फोटो नसबंदी कराने वाले पोस्टर पर लग जाती है। जिसकी वजह से तीनों की जिंदगी में उथल-पुथल मच जाती है और गांव वाले इनकी मर्दानगी पर शक करने लगते है। बात इतनी बढ़ जाती है कि इस वजह से जागवार की बहन की शादी टूट जाती है। यही नहीं, इसका असर विनय और अर्जुन की लाइफ पर भी पड़ता है। जहां विनय की पत्नी घर छोड़कर चली जाती है तो वहीं अर्जुन की शादी टूट जाती है। ऐसे में तंग आकर ये तीनों सरकार के खिलाफ केस करने का डिसीजन लेते हैं। तीनों की लड़ाई में कई परेशानी और ट्विस्ट एंड टर्न आते हैं। तो क्या ये पोस्टर ब्वॉयज अपनी लड़ाई जीत जाते हैं? या ये नसबंदी पोस्टर इनकी लाइफ खराब कर देता है? ऐसे कई सवालों के जवाब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

डायरेक्शन
फिल्म का डायरेक्शन अच्छा है। फिल्म में कहीं कहीं वन लाइनर्स हैं जो आपको हंसाते हैं हालांकि कहानी कमजोर है। जिसका कारण 21वी सदी की फिल्म में 18-19वी सदी वाले जोक्स से हंसाने की कोशिश की गई है। जो बातें ट्रेलर में दिखाई गई हैं उसे कहानी के फर्स्ट हाफ में स्थापित करने के लिए काफी लंबा खींचा गया है और ये काफी काल्पनिक लगता है। फिल्म का स्क्रीनप्ले और बेहतर किया जा सकता था।

एक्टिंग
फिल्म में सनी एक बार फिल्म टिपिकल जट के अवतार में नजर आए हैं। वहीं बॉबी जैसा कि हिन्दी के टीचर बने हैं तो यहां पूरी फिल्म में उन्होंने शुद्ध हिन्दी में बात की है। कहीं-कहीं उनकी बातों पर हंसी भी आती है। वहीं डायरेक्शन के साथ फिल्म में श्रेयष की एक्टिंग भी सहज है। देखा जाए तो तीनों फिल्म के हिसाब से ठीकठाक हंसा पाए हैं।

म्यूजिक
फिल्म का म्यूजिक पहले ही रिलीज हो चुका है जो कि कोई खास कमाल नहीं दिखा पाया है। वहीं इसका बैकग्राउंड स्कोर भी बकवास है।

देखें या नहीं
अगर आप सनी, बॉबी और श्रेयष के बहुत बड़े फैन हैं तो ही इस फिल्म को देखें। नहीं तो अच्छा होगा कि आप इसका टीवी पर आने का इंतजार करें।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Poster Boys Review
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×