Home »Reviews »Movie Reviews» Movie Review: Tamasha

Movie Review: अलग तरह की Love Story का इंतजार, तो देखें 'तमाशा'

dainikbhaskar.com | Nov 27, 2015, 11:23 AM IST

Critics Rating
  • Genre: रोमांटिक ड्रामा
  • Director: इम्तियाज अली
  • Plot: इम्तियाज अली का रोमांटिक लव ड्रामा है 'तमाशा'।

फिल्म का नाम

तमाशा

क्रिटिक रेटिंग

3/5

स्टार कास्ट

रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण

डायरेक्टर

इम्तियाज अली

प्रोड्यूसर

साजिद नाडियाडवाला

म्यूजिक डायरेक्टर

ए आर रहमान

जॉनर

रोमांटिक ड्रामा

डायरेक्टर इम्तियाज अली की फिल्म 'तमाशा' सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। 'जब वी मेट', लव आज कल' और 'हाईवे' जैसी फिल्में देने के बाद इम्तियाज ने एक बार दर्शकों के सामने एक अलग तरह की कहानी पेश की है। फिल्म में रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण लीड रोल में हैं।

क्या है फिल्म की कहानी

फिल्म की कहानी वेद वर्द्धन सहानी (रणबीर कपूर) और तारा महेश्वरी (दीपिका पादुकोण) के इर्द-गिर्द घूमती है। वेद एक ऐसा लड़का है, जिसका बचपन कहानियों सुनते हुए गुजरा है। हर अपनी लाइफ फंतासी में जीता है। उसे पढ़ने-लिखने में नहीं, बल्कि कहानी सुनने और सुनाने में दिलचस्पी होती है। बहरहाल, फैमिली उसे इंजीनियर बनाना चाहती है। कोर्सिका घूमने आए वेद की मुलाकात तारा से होती है, लेकिन वह तारा के साथ कुछ अलग तरह की लाइफ जीना चाहता है। दोनों प्लान बनाते है कि वे एक-दूसरे से सिर्फ झूठ बोलेंगे, साथ मिल मटरगश्ती करेंगे। एक सप्ताह बाद कभी न मिलने का वादा कर दोनों अलग हो जाते हैं। कहानी में ट्विस्ट तब आता है, जब तारा दिल्ली आकर वेद को ढूंढती है। वेद उसे मिलता है, लेकिन यह पुराना मस्तीखोर वेद नहीं, बल्कि एक सिंसियर प्रोडक्ट मैनेजर है, जो डिसिप्लिन लाइफ जीता है और 9-6 की नौकरी करता है। इसी बीच वेद अपने दोस्तों के सामने तारा को प्रपोज करता है, लेकिन वह इनकार कर देती है। क्या यह लव स्टोरी पूरी होती है? कहानी में और क्या-क्या ट्विस्ट आते हैं? तारा और वेद मिल पाएंगे भी या नहीं..? यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

इम्तियाज अली का डायरेक्टर

इम्तियाज अली का डायरेक्शन अच्छा है। खासकर फर्स्ट हाफ ऑडियंस का भरपूर एंटरटेन करेगा। हां, सेकंड हाफ कुछ कमजोर है। ज्यादा ड्रामा ठूंसने की वजह से कई जगह फिल्म बोर करने लगती है।

रणबीर-दीपिका की शानदार एक्टिंग

फिल्म के लीड पेयर रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण ने शानदार एक्टिंग की है। वैसे, दीपिका से कहीं ज्यादा कैमरा स्पेस रणबीर को दी गई है। उनके करियर ग्राफ को बढ़ाने के लिए डायरेक्टर इम्तियाज अली की यह एक अच्छी कोशिश रही है।

जबरदस्त है म्यूजिक

फिल्म में ए आर रहमान का संगीत सुनने लायक है। इसके सॉन्ग्स 'मटरगश्ती', 'अगर तुम साथ हो', 'वट वट वट' और 'हीर तो बड़ी सैड' पहले ही दर्शकों के बीच हिट हो चुके हैं। बाकी गाने भी फिल्म के हिसाब से अच्छे हैं। गाने कहीं भी ठूंसे हुए नहीं लगे, सिचुएशन के हिसाब से परफेक्ट हैं।


देखें या नहीं

अगर आप एक अलग तरह की रोमांटिक लव स्टोरी देखने का इंतजार कर रहे हैं तो फिल्म आपके लिए ही है। इसके अलावा, रणबीर और दीपिका के फैन्स को यह फिल्म निराश नहीं करेगी। फिल्म 'ये जवानी है दीवानी' की इस जोड़ी को एक बार फिर बेहतरीन लोकेशन्स पर मटरगश्ती करते देखा जा सकता है!
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Movie Review: Tamasha
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×