Home »Reviews »Movie Reviews» Movie Review Lipstick Under My Burkha

Movie review: आंखें खोलने का काम करती है 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का'

dainikbhaskar.com | Jul 19, 2017, 06:34 PM IST

Critics Rating
  • Genre: ड्रामा
  • Director: अलंकृता श्रीवास्तव
  • Plot: यह भोपाल के एक मोहल्ले में रहने वाली 4 महिलाओं की कहानी है।

फिल्मलिपस्टिक अंडर माय बुर्का
क्रिटिक रेटिंग3.5 /5
स्टार कास्टरत्ना पाठक शाह, प्लाभिता बोरठाकुर, कोंकणा सेन शर्मा, अहाना कुमरा, सुशांत सिंह, विक्रांत मास्सी, शशांक अरोड़ा
डायरेक्टरअलंकृता श्रीवास्तव
प्रोड्यूसरप्रकाश झा, एकता कपूर
म्यूजिकजुबांनिसा बंगश
जॉनरड्रामा

'टर्निंग-30' के बाद अलंकृता श्रीवास्तव ने यह फिल्म डायरेक्ट की है जो कई कॉन्ट्रोवर्सी के बाद रिलीज होने के लिए तैयार है। कैसी बनी है यह फिल्म आइए पता करते हैं।

कहानी
यह कहानी बुआ जी उर्फ ऊषा (रत्ना पाठक शाह), लीला(अहाना कुमरा), शिरीन (कोंकणा सेन शर्मा) और रिहाना(प्लाभिता) की है जो भोपाल के एक मोहल्ले में रहते हैं। बुआ जी को रोमांटिक उपन्यास पढ़ने का शौक है, लीला का सपना है कि वो फोटोग्राफर अरशद (विक्रांत मास्सी) के साथ शहर छोड़कर दिल्ली भाग जाए। शिरीन अपने पति (सुशांत सिंह) और तीन बच्चों के साथ एक बंधी-बंधी जिंदगी गुजारती है लेकिन बिना बताए सेल्स वूमेन का काम करती है। वहीं बहुत सारी पाबंदियों के बावजूद रिहाना, अंग्रेजी गानों की दीवानी है और घर से निकलते ही वो अपनी ही दुनिया में चली जाती है। इन चारों महिलाओं की जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव आते हैं और अंत में फिल्म को एक अंजाम मिलता है जिसका पता आपको थिएटर तक जाकर ही चल पाता है।


डायरेक्शन
फिल्म का डायरेक्शन बहुत ही उम्दा है और एक साधारण कहानी को बड़े ही बेहतरीन अंदाज में अलंकृता ने पेश किया है। सिनेमेटोग्राफी, कैमरा वर्क और बैकग्राउंड कमाल का है। फिल्म की कहानी काफी साधारण है लेकिन प्रभावित करने वाली है जो कि लोगों की सोच का नजरिया बदल पाने में सक्षम है। फिल्म के डायलॉग्स काफी तगड़े हैं इसे बखूबी लिखा गया है। मोहल्ले में कैसे-कैसे चीजें और रोजमर्रा की जिंदगी होती है, उसे बेहतरीन तरीके से दर्शाया है। देखा जाए तो डायरेक्शन और कहानी के हिसाब से फिल्म बहुत अच्छी है।


स्टारकास्ट की परफॉर्मेंस
फिल्म में हर किरदार ने बहुत ही जबरदस्त परफॉर्मेंस दी है। रत्ना पाठक की अदाकारी बहुत ही कमाल की है जो हंसाने के साथ-साथ आपको सोचने पर भी मजबूर करती है। वहीं कोंकणा सेन शर्मा, अहाना कुमरा और प्लाभिता ने भी उम्दा काम किया है। सुशांत सिंह और विक्रांत मासी की एक्टिंग भी बेहतरीन है जो किरदार और कहानी के संग-संग जाती है। बाकी को-स्टार्स का काम भी बहुत अच्छा है।

म्यूजिक
फिल्म का म्यूजिक कहानी के साथ-साथ जाता है। बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है।

देखें या नहीं
अगर आप एडल्ट हैं और बेहतरीन परफॉर्मर्स के साथ-साथ आंखें खोल देने वाली फिल्म देखना पसंद करते हैं तो जरूर देख सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Movie review lipstick under my burkha
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×