Home »Reviews »Movie Reviews» Julie 2 Movie Review

Movie Review : बोल्ड सीन्स के बाद भी ऑडियंस को बोर करती है 'जूली-2'

DainikBhaskar.com | Nov 24, 2017, 11:15 AM IST

Movie Review : बोल्ड सीन्स के बाद भी ऑडियंस को बोर करती है 'जूली-2'
Critics Rating
  • Genre: थ्रिलर ड्रामा
  • Director: दीपिक शिवदसानी
  • Plot: 'Deepak Shivdasani's jilie-2' साउथ एक्ट्रेस राय लक्ष्मी का बॉलीवुड डेब्यू है।
फिल्मदीपक शिवदसानी की जूली-2 (Deepak Shivdasani's jilie-2)
रेटिंग1.5/5 स्टार
स्टार कास्टराय लक्ष्मी, रवि किशन, आदित्य श्रीवास्तव, पंकज त्रिपाठी, रति अग्निहोत्री
डायरेक्टरदीपक शिवदसानी
प्रोड्यूसरविजय नायर, दीपक शिवदसानी, पहलाज निहलानी
म्यूजिकविजू शाह, आतिफ अली, जावेद मोहसिन
जॉनरथ्रिलर ड्रामा

साउथ एक्ट्रेस राय लक्ष्मी की बॉलीवुड डेब्यू फिल्म 'Deepak Shivdasani's jilie-2' सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। मलयालम, तमिल, तेलुगु और कन्नड़ की कई फिल्मों में काम कर चुकीं राय लक्ष्मी की ये फिल्म कैसी बनी जानते हैं...

कहानी
यह कहानी जूली(राय लक्ष्मी) की है जो कि एक नाजायज औलाद है। किन्हीं कारणों से पेरेंट्स उन्हें घर से निकाल देते हैं यहीं ये जूली की नई लाइफ की शुरुआत होती है। उन्होंने एक्टिंग क्लास की हुई होती हैं इसी के चलते वे फिल्मों में काम की तलाश करने लगती हैं। कई उतार-चढ़ाव और कॉम्प्रोमाइज के बाद उन्हें काम मिलना शुरू होता है। इसी बीच एक दिन जब जूली एक ज्वैलरी स्टोर में जाती हैं तभी एक हादसा होता है और उन्हें फायरिंग में गोली लग जाती है। इस एक्सीडेंट की वजह से वे आईसीयू में पहुंच जाती हैं। जिस वक्त जूली हॉस्पिटल में भर्ती होती हैं उनके फ्लैशबैक में कई किस्से और लाइफ से जुड़े राज फिल्म में दिखाए जाते हैं। तो क्या जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही जूली बच पाती है? ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।


डायरेक्शन
फिल्म का डायरेक्शन ठीकठाक है कहानी काफी रुक-रुक कर चलती है। फिल्म का स्क्रीनप्ले काफी घिसा-पिटा है। वहीं डायलॉग्स भी काफी हिले-ढुले हैं जिसे काफी हद तक दुरुस्त करने की जरूरत थी। बात कहानी की करें तो ये 90s के दौर की है जो कि धीमे-धीमे, घिसी-पिटे ढर्रे पर चलती है इसे 21वी सदी में सिर्फ बोल्ड सीन्स की भरमार कर दिखना आपको बोरियत महसूस कराता है।

एक्टिंग
फिल्म में राय लक्ष्मी की एक्टिंग ठीक-ठाक है। जैसा कि ये हिन्दी में उनकी पहली फिल्म में है इसकी डबिंग काफी गड़बड़ है जो ऑडियंस के डिसकनेक्ट करती है। बाकी कैरेक्टर का काम ओके है एक्टिंग के नजरिए से फिल्म पर बहुत काम करने की जरूरत है। हालांकि फिल्म में पंकज त्रिपाठी और रवि किशन का काम अच्छा है।

म्यूजिक
फिल्म का म्यूजिक जैसा की हिट नहीं हुआ। ऐसा कोई सॉन्ग नहीं है जो आपको याद रह सके।

देखें या नहीं?
अगर आप ये फिल्म देखने का प्लान कर रहे हैं तो हम तो यही कहेंगे कि ये आपको बहुत ज्यादा निराश कर सकती है। इसलिए वीकेंड पर कोई दूसरी फिल्म देखने का प्लान बनाए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Julie 2 movie review
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×