Home »Reviews »Movie Reviews» Ittefaq इत्तेफाक Movie Review - Sidharth Malhotra, Sonakshi Sinha Starrer Hindi Film

Movie Review: 'इत्तफाक' है सस्पेंस भरपूर लेकिन एक्टिंग कमजोर

dainikbhaskar.com | Mar 29, 2018, 06:11 PM IST

Movie Review: 'इत्तफाक' है सस्पेंस भरपूर लेकिन एक्टिंग कमजोर
Critics Rating
  • Genre: सस्पेंस थ्रिलर
  • Director: अभय चोपड़ा
  • Plot: यदि आपको सस्पेंस थ्रिलर मूवी देखने का शौक है तो ही देखें वरना नहीं.

रेटिंग3/5
स्टार कास्टसिद्धार्थ मल्होत्रा, सोनाक्षी सिन्हा और अक्षय खन्ना
डायरेक्टअभय चोपड़ा
म्यूजिकतनिष्क बागची
प्रोड्यूसरशाहरुख खान, गौरी खान, करन जौहर, रेनू रवि चोपड़ा और हीरू यश जौहर
जॉनरसस्पेंस थ्रिलर

डायरेक्टर अभय चोपड़ा की फिल्म 'इत्तफाक' सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। फिल्म एक सस्पेंस थ्रिलर है, जिसमें आखिर तक दर्शक ये सोचने को मजबूर होते हैं कि कातिल कौन हैं। इसी नाम से 1969 में फिल्म आई थी, जिसमें राजेश खन्ना और नंदा लीड रोल में थे। आपको बता दें कि अभय इसके पहले फिल्म 'मिशन कश्मीर' (2000), 'संघर्ष' (1999), 'करीब' (1998) जैसी फिल्म में अभिनय भी कर चुके हैं। अभय ने इस फिल्म से डायरेक्शन में डेब्यू किया है। वे डायरेक्टर बीआर चोपड़ा के पोते हैं।

कहानी
फिल्म की कहानी राइटर विक्रम सेठी (सिद्धार्थ मल्होत्रा) से शुरू होती है। विक्रम, यूके से मुंबई अपनी नॉवेल लॉन्च करने आता है। इसी बीच एक रात विक्रम की वाइफ कैटरीन (किंबरली लूइसा मैकबेथ) की डेथ हो जाती है। वहीं, दूसरी ओर इसी रात माया (सोनाक्षी सिन्हा) के हसबैंड, जो वकील होता है, की भी डेथ हो जाती है। दोनों की डेथ नेचुरल नहीं होती और इसे हत्या बताया जाता है। विक्रम और माया के पार्टनर की हत्या का शक इन्हीं दोनों पर जाता है। लेकिन दोनों इससे साफ इंकार कर देते थे। दोनों के पास पुलिस ऑफिसर देव (अक्षय खन्ना) को सुनाने के लिए अलग कहानी होती है। दोनों यह साबित करने की कोशिश करते हैं कि उन्होंने यह खून नहीं किया है। माया, विक्रम पर जबर्दस्ती अपने घर के अंदर घुसने का आरोप लगाती है तो विक्रम बताता है कि माया का व्यवहार उसके साथ काफी फ्रेंडली था। विक्रम के अनुसार उसकी गाड़ी का एक्सीडेंट हो जाता है, जिसकी वजह से वो माया के पास मदद के लिए पहुंचता है। क्या देव सच का पता लगाकर खूनी को जेल पहुंचा पाएगा? माया या विक्रम आखिर कौन सच बोल रहा है? अगर इन दोनों ने खून नहीं किया तो आखिर किसने किए हैं यह डबल मर्डर? सच जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

डायरेक्शन
फिल्म का डायरेक्शन और कैमरा वर्क अच्छा है। फिल्म की कहानी 1969 में आई फिल्म 'इत्तफाक' से काफी मुलती-जुलती है। फिल्म की रफ्तार काफी धीमी है। फिल्मांकन में भी कमी है। फिल्म में दिखाए गए सरप्राइज एलीमेंट को और दिलचस्प बनाया जा सकता था। हालांकि, फिल्म में आखिर तक दर्शक सोचने को मजबूर रहता है कि कातिल कौन हैं। जिन लोगों ने पुरानी इत्तेफाक देखी है उन्हें पता होगा कि फिल्म की कहानी क्या है।

एक्टिंग
सिद्धार्थ मल्होत्रा और सोनाक्षी सिन्हा की परफॉर्मेंस और बेहतर हो सकती थी। सिद्धार्थ ने अपनी पिछली फिल्मों में ज्यादा बेहतर अभिनय किया है। दोनों की ही एक्टिंग में ठहराव देखने को नहीं मिला। वहीं, पुलिस ऑफिसर के रोल में अक्षय खन्ना ने बेहतरीन अभिनय किया है। एक्टिंग के मामले में अक्षय, सिद्धार्थ और सोनाक्षी पर भारी पड़े हैं।

म्यूजिक
फिल्म में एक भी गाना नहीं है। इसका बैकग्राउंड म्यूजिक अच्छा है।

देखें या नहीं देखें
यदि आपको सस्पेंस थ्रिलर मूवी देखने का शौक है और आप सिद्धार्थ मल्होत्रा, सोनाक्षी सिन्हा और अक्षय खन्ना के फैन है तो ही फिल्म देखने जाए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Ittefaq इत्तेफाक Movie Review - Sidharth Malhotra, Sonakshi Sinha Starrer Hindi Film
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×