Home »Reviews »Movie Reviews» Hawaizaada : Movie Review

MOVIE REVIEW : हवाईजादा

फिल्म भारत के महान साइंटिस्ट शिवकर बापूजी तलपड़े की बायोपिक है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 30, 2015, 09:22 AM IST

  • (फिल्म के पोस्टर में पल्लवी शारदा और आयुष्मान खुराना)

    फिल्म का नामहवाईजादा
    क्रिटिक रेटिंग2.5/5
    मुख्य कलाकारआयुष्मान खुराना, मिथुन चक्रवर्ती, पल्लवी शारदा
    डायरेक्टरविभु पुरी
    प्रोड्यूसरविशाल गुरमानी, राजेश बंगा और रिलायंस एंटरटेनमेंट
    म्यूजिक डायरेक्टररोचक कोहली और मंगेश धाकड़े
    जेनरड्रामा
    सिनेमाघरों में इस शुक्रवार मूवी रिलीज हुई 'हवाईजादा'। विभु पुरी के डायरेक्शन डेब्यू वाली यह फिल्म भारत के महान साइंटिस्ट शिवकर बापूजी तलपड़े की जीवनी पर आधारित है, जिन्हें दुनिया का पहला मानवरहित हवाईजहाज बनाने और उड़ाने के लिए जाना जाता है।

    क्या है फिल्म की कहानी


    फिल्म की कहानी उस मोड़ से शुरू होती है जहां शिवकर बापूजी तलपड़े उर्फ शिवी (आयुष्मान खुराना) बचपन में एक ही क्लास में कई बार फेल होते हैं। शिवी का छोटा सा भतीजा और वो एक ही क्लास में आ जाते है। शिवी का मन पढ़ाई में नहीं लगता। वो अपनी करतूत के चलते जेल भी चला जाता है। इस बात से पिता काफी नाखुश होते हैं और उसे घर से निकाल देते हैं। पिता द्वारा घर से निकाले जाने के बाद शिवी की पंडित सुब्बाराय शास्त्री (मिथुन चक्रवर्ती) के घर रहने चला जाता है। इस बीच शिवी को नाचने-गाने वाली सितारा से प्यार हो जाता है। हालांकि, सितारा शिवी को छोड़कर चली जाती है। इसके बाद शिवी शास्त्री जी के साथ मिलकर हवाईजहाज उड़ाने की तैयारी में जुट जाता है। उनकी मेहनत रंग लाती है और वो हवाई जहाज उड़ाने में सफल ही होते हैं, लेकिन थोड़ी दूर उड़ने के बाद हवाईजहाज नीचे गिर जाता है। इधर, सितारा फिर से शिवी की जिंदगी में आ जाती है, लेकिन उसके ऊपर काफी उधारी होती है। ऐसे में शिवी शास्त्री जी की वो किताब जिसमें हावईजहाज से जड़ी जानकारी होती हैं अंग्रेजो को बेच देता है। इस बात से शास्त्री जी को ठेस पहुंचती और उनका देहांत हो जाता है। शिवी खुद को शास्त्री जी की मौता का जिम्मेदार मानने लगता है और उनका सपना पूरा करने के लिए जुट जाता है। हालांकि, उसके इस सपने को अंग्रेज पूरा नहीं होने देना चाहते। इसके बाद भी शिवी हवाईजहाज उड़ाने में सफल भी हो जाता है, लेकिन कैसे? ये जानने के लिए आपको सिनेमाघर जाना होगा।

    कैसी है स्टार्स की एक्टिंग

    आयुष्मान खुराना शिवकर बापूजी के रोल में एक दम फिट बैठे हैं। उनके अभिनय को देख लगता है कि इस रोल को इतना अच्छा शायद ही कोई और अभिनेता निभा पाता। मिथुन चक्रवर्ती ने भी शिवी के मेंटर सुब्बाराय शास्त्री को परदे पर बखूबी जिया है। रही बात पल्लवी शारदा की तो 'बेशरम' के बाद यह उनकी दूसरी हिंदी मूवी है और इसके लिए उन्होंने जिम भी की है, जिसके कारण वे पहले से कुछ स्लिम नजर आई हैं। उन्होंने शिवी की प्रेमिका सितारा को अच्छे से प्ले किया है। हालांकि, उनका रोल कुछ-कुछ 'देवदास' की चंद्रमुखी (माधुरी दीक्षित) से मिलता-जुलता है।
    आगे की स्लाइड में पढ़ें शेष REVIEW, साथ ही वीडियो रिव्यू भी देखें...
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×