Home »Reviews »Movie Reviews» Movie Review Babumoshai Bandookbaaz

Movie Review: 'बाबुमोशाय बंदूकबाज'

dainikbhaskar.com | Aug 25, 2017, 11:07 AM IST

Movie Review: 'बाबुमोशाय बंदूकबाज'
Critics Rating
  • Genre: एक्शन थ्रिलर
  • Director: कुशान नंदी
  • Plot: 'बाबुमोशाय बंदूकबाज' डायरेक्टर कुशन नंदी की एक्शन थ्रिलर फिल्म है।

रेटिंग2/5
स्टार कास्टनवाजुद्दीन सिद्दिकी, बिदिता बाग, श्रद्धा दास, दिव्या दत्ता
डायरेक्टरकुशान नंदी
म्यूजिकगौरव दगाओंकर, अभिलाष लाकरा, जॉल दुब्बा, देबज्योति मिश्रा
प्रोड्यूसरकुशन नंदी, किरन श्याम श्रॉफ, अस्मित कुंदर
जॉनरएक्शन थ्रिलर

डायरेक्टर कुशान नंदी की फिल्म 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। '88 Antop Hill'(2003) और 'हम दम'(2005) के बाद कुशान की यह तीसरी बॉलीवुड फिल्म है। कैसी है ये फिल्म। आइए जानते हैं...


कहानी
फिल्म की कहानी एक कॉन्ट्रैक्ट किलर बाबू बिहारी यानी नवाजुद्दीन सिद्दिकी की है। जो पैसों के लिए कभी मिनिस्टर का तो कभी आसपास के लोगों का खून करता है। इसी बीच उसकी मुलाकात फुलवा (बिदिता बाग) नाम की लड़की से होती है। जो कि मोची है और जूते सिलने का काम करती है। दोनों की लव-स्टोरी आगे बढ़ती है। यहीं कहानी में ट्विस्ट आता है और बाबू के कॉन्ट्रेक्ट किलिंग बिजनेस में एंट्री होती है बाके(जतिन गोस्वामी) नाम के शख्स की। दोनों में काम को लेकर कॉम्पिटीशन शुरू हो जाता है। क्या होता है कहानी का एंड इसे जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

डायरेक्शन
फिल्म का डायरेक्शन अच्छा है साथ ही कैमरा वर्क कमाल का है। बेहतर लोकेशंस पर शूट हुई फिल्म में कहीं न कहीं कहानी कमजोर है। फर्स्ट हाफ ठीक है लेकिन सेकंड हाफ में इसे खींचा गया है। जिसे देखकर बोरियत महसूस होती है और लगता है कि ये कब खत्म होगी। साथ ही काफी कैरेक्टर ऐसे हैं जिनके बारे में डिटेलिंग नहीं की गई है। कुछ बोल्ड सीन्स भी जबरदस्ती डाले गए हैं। देखा जाए तो स्क्रीनप्ले और कहानी पर काम किया जा सकता था। कहानी का एंड भी कहीं न कहीं निराश करता है।

एक्टिंग
नवाज की एक्टिंग काफी जबरदस्त है। फिल्म दर फिल्म उनकी एक्टिंग में जो निखार आ रहा है वो यहां देखने को मिला। फिल्म में बिदिता ने भी बढ़िया काम किया है। वहीं दिव्या दत्ता सुमित्रा नाम की मंत्री के रोल में हैं। उनका कैरेक्टर नेगेटिव है जिसे उन्होंने काफी बेहतरीन तरीके से प्ले किया है। मुरली शर्मा और बाकी स्टार्स का काम भी अच्छा है।

म्यूजिक
फिल्म का म्यूजिक ज्यादा खास नहीं है। हालांकि वो कहानी के साथ-साथ चलता है। इसमें कोई जबरदस्ती का म्यूजिक नहीं है। बैकग्राउंड स्कोर भी ठीक है।

देखें या नहीं
अगर आप नवाजुद्दीन के फैन और एडल्ट हैं तो जरूर यह फिल्म देख सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Movie Review Babumoshai Bandookbaaz
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×