Home »Reviews »Movie Reviews» Mukkabaaz Movie Review, Anurag Kashyap, Vineet Kumar Singh, Jimmy Shergill

खिलाड़ियों के साथ होने वाली राजनीति को उजागर करती 'मुक्काबाज'

DainikBhaskar.com | Jan 11, 2018, 02:31 PM IST

खिलाड़ियों के साथ होने वाली राजनीति को उजागर करती 'मुक्काबाज'
Critics Rating
  • Genre: स्पोर्ट्स ड्रामा
  • Director: अनुराग कश्यप
  • Plot: डायरेक्टर अनुराग कश्यप की फिल्म 'मुक्काबाज' गुरुवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई हैं।
रेटिंग2.5
स्टार कास्टविनीत कुमार, जोया हुसैन, जिमी शेरगिल, रवि किशन, दीपक तलवार
डायरेक्टरअनुराग कश्यप
म्यूजिकप्रशांत पिल्लई
प्रोड्यूसरआनंद एल राय
जोनरस्पोर्ट्स ड्रामा

डायरेक्टर अनुराग कश्यप की फिल्म 'मुक्काबाज' गुरुवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई हैं। फिल्म में खेल और खिलाड़ियों के साथ होने वाली राजनीति पर आधारित है। इसके पहले अनुराग की 2016 में फिल्म 'रमन राघव' 2.0 आई थी।

कहानी
फिल्म 'मुक्काबाज' एक बॉक्सर की कहानी है, जिसका सपना है नेशनल चैम्पियन बनना है। फिल्म की कहानी बरेली से शुरू होती है। यहां का रहने वाला श्रवण कुमार (विनीत सिंह), जिसका पढ़ाई में मन नहीं लगता है लेकिन वो बॉक्सर बनना चाहता है। श्रवण का सपना है कि वो यूपी का माइक टायसन बने। बॉक्सिंग की ट्रेनिंग लेने के लिए वो नेता भगवान दास मिश्रा (जिमी शेरगिल) के यहां जाता है। ये बात और है कि मिश्रा जी बॉक्सर्स से गेहूं पिसवाना, खाना बनवाने से लेकर अपने सारे पर्सनल काम करवाते हैं। बॉक्सिंग की ट्रेनिंग लेते-लेते श्रवण को मिश्रा जी की भतीजी सुनैना (जोया हुसैन) से प्यार हो जाता है। दोनों के प्यार की भनक मिश्रा जी को भी लग जाती है। इसी बीच श्रवण को नेशनल लेवल पर खेलने के लिए ट्रेनिंग लेने बनारस जाना पड़ता है। यहां उसे कोच संजय कुमार (रवि किशन) ट्रेनिंग देते हैं। यहां भी श्रवण को राजनीति की शिकार होना पड़ता है। लेकिन यहां भी वो राजनीति का शिकार होता है। क्या उसका मुक्काबाज बनने का सपना पूरा हो पाता है, क्या उसे नेशनल लेवल पर खेलने का मौका मिलता है, क्या उसे उसका प्यार मिल पाता है, इन सबके बीच उसे किस तरह की राजनीति से गुजरना पड़ता है... ये सब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

डायरेक्शन
फिल्म 'मुक्काबाज' अनुराग कश्यप की फिल्म है। फिल्म का डायरेक्शन कमाल का है। फिल्म में विनीत कुमार और जिमी शेरगिल की एक्टिंग और एक्शन बेहतरीन है। फिल्म में डॉयलॉग्स भी कमाल के है। इनमें इलाहाबाद और बनारस का टच देखने को मिलता है। फिल्म थोड़ी लंबी है, जिसे छोटा किया जा सकता था। लेकिन ओवरऑल फिल्म बेहतरीन है।

एक्टिंग
विनीत कुमार और जिमी शेरगिल का काम अच्छा है। दोनों ने ही अपने-अपने किरदार के साथ न्याय किया है। नेता जी के रोल में जिमी ने बेहतरीन अदाकारी की है। विनीत ने अपने किरदार के साथ भी इंसाफ किया है। उन्होंने अपने रोल के लिए रियल में बॉक्सिंग सीखी थी। रवि किशन और जोया हुसैन का काम भी ठीक रहा।

म्यूजिक
फिल्म का म्यूजिक अच्छा है। बैकग्राउंड म्यूजिक भी कमाल का है। 'पैंतरा..' और 'बहुत हुआ सम्मान..' फिल्म रिलीज से पहले ही पॉपुलर हो चुके हैं।

देखें या नहीं
यदि आप रिपोर्ट्स में इंटरेस्ट रखते हैं और खिलाड़ी की लाइफ पर बनी फिल्मों को पसंद करते हैं तो ही फिल्म देखने जाए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Mukkabaaz Movie Review, Anurag Kashyap, Vineet Kumar Singh, Jimmy Shergill
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×