Home »Celebs B'day & Anniversary» Urmila Matondkar Birthday Speical Bollywood Celebs Who Are In Onside Love

क्यों किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती, ये प्यार में क्यों होता है

बॉलीवुड में ऐसे कई सेलेब्स रहे हैं जिन्हें प्यार में वफा नहीं मिली।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 04, 2018, 01:38 PM IST

  • क्यों किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती, ये प्यार में क्यों होता है
    +5और स्लाइड देखें
    उर्मिला मातोंड़कर और राम गोपाल वर्मा।

    फिल्म 'तेरे नाम' का गाना 'क्यों किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती, ये प्यार में क्यों होता है...' कुछ बॉलीवुड सेलेब्स के ऊपर एकदम फिट बैठता है। दरअसल बॉलीवुड में ऐसे कई सेलेब्स रहे हैं जिन्हें प्यार में वफा नहीं मिली। इन्हीं में से एक हैं डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा। रामू को एक्ट्रेस उर्मिला मातोंड़कर से बेइंतहा प्यार था, जो आज अपना 44वां बर्थडे (4 फरवरी) सेलिब्रेट कर रही हैं। उर्मिला ने ठुकरा दिया था प्यार का प्रपोजल...


    बीटाउन में राम गोपाल वर्मा और उर्मिला के अफेयर की खबरें खूब छाई थीं। कहा तो ये भी जाता था कि रामू अपनी फिल्म में उर्मिला को ही एक्ट्रेस लेते थे। उन्होंने एक बार तो उर्मिला की खातिर माधुरी दीक्षित तक को फिल्म से हटा दिया था। बाद में जब राज खुला तो पता चला कि रामू को उर्मिला से मोहब्बत थी, इसी वजह से वे उर्मिला को फिल्म में साइन करते थे। जब उन्होंने उर्मिला को प्रपोज किया तो उन्होंने उनके प्यार को ठुकरा दिया और साथ ही फिल्में करना भी बंद कर दिया था। फिल्मों से दूर होने के बाद उर्मिला ने अपने से 9 साल छोटे कश्मीरी बिजनेसमैन मोहसिन अख्तर मीर से शादी (2016) की। बता दें कि उर्मिला ने 'रंगीला' (1995), 'दौड़' (1997), 'सत्या' (1998), 'मस्त' (1999), 'जंगल' (2000), 'प्यार तूने क्या किया' (2001), 'भूत' (2003), 'एक हसीना थी' (2003) सहित कई फिल्मों में काम किया है।

    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें ऐसे ही अन्य सेलेब्स के बारे में...

  • क्यों किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती, ये प्यार में क्यों होता है
    +5और स्लाइड देखें
    ट्विंकल खन्ना और करन जौहर।

    फिल्ममेकर करन जौहर भी प्यार में नाकाम साबित हुए हैं। उन्होंने अपने इस दर्द को अपनी फिल्मों के जरिए बयां किया है। एक बातचीत में करन ने बताया कि किस तरह उन्हें 'हैप्पी मैरिज' करने वाले कपल से जलन होने लगी थी। करन ने कहा, "लोग मुझसे कहते हैं कि हिंदी फिल्में थिएट्रिकल और ड्रैमेटिक होती हैं। लेकिन ये कहीं न कहीं रियल लाइफ से भी जुड़ी होती हैं। मैं उस शादी के मंडप में बैठा था, जहां मेरा प्यार किसी और से शादी कर रहा था। बता दें कि करन को ट्विंकल खन्ना से एकतरफा प्यार था। ये बात खुद ट्विंकल ने भी एक इंटरव्यू में कही थी। ट्विंकल ने बताया था कि करन उन्हें टीनएज से प्यार करते थे। हालांकि, उन्हें कभी भी करन से मोहब्बत नहीं थी।

  • क्यों किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती, ये प्यार में क्यों होता है
    +5और स्लाइड देखें
    मीनाक्षी शेषाद्रि और राजकुमार संतोषी।

    गुजरे जमाने की एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्रि का नाम फिल्ममेकर राजकुमार संतोषी के साथ जोड़ा गया था। बताया जाता है कि राजकुमार संतोषी की ज्यादातर फिल्मों में मीनाक्षी ही होती थीं। इसके पीछे का राज तब लोगों के सामने खुला, जब संतोषी ने मीनाक्षी के सामने इश्क का इजहार किया। लेकिन मीनाक्षी ने उनके प्रपोजल को ठुकरा दिया था और साथ ही सिल्वर स्क्रीन को भी अलविदा कह दिया था। उन्होंने 1995 में इन्वेस्टमेंट बैंकर हरीश मैसूर से शादी की थी। अब वे डांस एकेडमी चला रही हैं। उन्होंने 'घायल' (1990), 'दामिनी' (1993), 'घातक' (1996), 'हीरो' (1983), 'मेरी जंग' (1985), 'डकैत' (1987) सहित अन्य फिल्मों में काम किया है।

  • क्यों किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती, ये प्यार में क्यों होता है
    +5और स्लाइड देखें
    सुलक्षणा पंडित और संजीव कुमार।

    सुलक्षणा पंडित, संजीव कुमार से प्यार करती थीं। उन्होंने संजीव के सामने अपने प्यार का इजहार भी किया था और कहा था कि वे उनसे शादी कर लें। जब संजीव ने उनके प्यार को ठुकरा दिया था तो वे डिप्रेशन में चली गई थीं। 47 साल की उम्र में जब संजीव कुमार की मौत हुई तो वे ये सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाईं और पागल हो गई थीं। हालांकि, कुछ दिनों पहले उनकी छोटी बहन विजयेता पंडित ने एक इंटरव्यू में बताया कि उनकी बहन अब ठीक हैं। बता दें कि सुलक्षणा ने फिल्मों में गाने के अलावा एक्टिंग भी की है। उन्होंने 'माना तेरी नजर में तेरा प्यार हम नहीं...' (फिल्म 'आहिस्ता-आहिस्ता'), 'बेकरार दिल...' (फिल्म 'दूर का राही'), 'सात समंदर पार से...' ( फिल्म 'तकदीर'), 'छुपा-छुपी खेले आओ...' ( फिल्म 'ड्रीम गर्ल'), 'मौसम मौसम लवली मौसम...' ( फिल्म 'थोड़ी सी बेवफाई'), 'सोमवार को हम मिले...' ( फिल्म 'अपनापन') सहित अन्य गाने गाए हैं। उन्होंने अपने अभिनय सफर की शुरुआत 1975 में फिल्म 'उलझन' से की थी। इस फिल्म में उनके को-स्टार थे संजीव कुमार। उन्होंने 'हेरी-फेरी' (1976), 'अपनापन' (1977), 'खानदान' 91979), 'चेहरे पे चेहरा' (1981), 'धरम संकट' (1982), 'वक्त की दीवार' (1982) सहित कई फिल्मों में काम किया है।

  • क्यों किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती, ये प्यार में क्यों होता है
    +5और स्लाइड देखें
    वहीदा रहमान और गुरु दत्त।

    गुरु दत्त को एक्ट्रेस वहीदा रहमान से बेहइंतहा मोहब्बत थी। हालांकि, ये प्यार एकतरफा था। वहीदा ने कभी भी गुरु दत्त की मोहब्बत को स्वीकार नहीं किया था। इस वजह से गुरु दत्त शराब पीने के आदी हो गए थे। कहा जाता है कि लाइफ में तन्हा रह गए गुरु दत्त ने आखिरकार सुसाइड कर कर लिया था। बता दें कि गुरु दत्त ने गायिका गीता दत्त से 1953 में लव मैरिज की थी। लेकिन ये प्यार ज्यादा दिनों तक बरकरार नहीं रह पाया और दोनों अलग हो गए। गुरु दत्त का पत्नी गीता दत्त से रिश्ता डिस्टर्ब हो गया था और वहीदा रहमान ने (जिन्हें वे प्यार करते थे) उनसे दूरियां बना रही थीं। गुरु दत्त और वहीदा रहमान ने 'प्यासा' (1957), 'कागज के फूल' (1959), 'चौदहवीं का चांद' (1960), 'साहब बीवी और गुलाम' (1962) फिल्मों में साथ काम किया।

  • क्यों किसी को वफा के बदले वफा नहीं मिलती, ये प्यार में क्यों होता है
    +5और स्लाइड देखें
    हेमा मालिनी और संजीव कुमार।

    संजीव कुमार को हेमा मालिनी से प्यार था। उन्होंने हेमा के घर शादी का प्रस्ताव भी भेजा था। हालांकि, हेमा ने उनका शादी का प्रस्ताव ठुकरा दिया था और बाद में धर्मेंद्र से शादी कर ली थी। बता दें कि ये प्यार भी एकतरफा ही था। सिर्फ संजीव ही हेमा से प्यार करते थे, हेमा की तरफ से ऐसी कोई बात नहीं थी। कहते हैं कि संजीव कुमार, हेमा मालिनी के इनकार से इतने दुखी हुए कि उन्होंने कभी शादी नहीं करने का फैसला कर लिया। यह भी कहा जाता है कि बीते दौर की खूबसूरत अदाकारा सुलक्षणा पंडित को संजीव कुमार से प्यार था, लेकिन संजीव के दिलोदिमाग पर तो हेमा मालिनी छाई हुई थीं। उन्होंने सुलक्षणा को इनकार कर दिया। संजीव ताउम्र अविवाहित रहे। संजीव शायद हेमा से मिली बेवफाई को झेल नहीं पाए और गम भुलाने के लिए उन्होंने शराब का सहारा लिया। 47 साल की उम्र में उनका निधन हो गया। संजीव और हेमा मालिनी ने 'सीता और गीता' (1972), 'शोले' (1975), 'जानेमन' (1976), 'धूप छांव' (1977), 'सुराग' (1982) सहित अन्य फिल्मों में साथ काम किया है।
    एकतरफा था इन सेलेब्स का प्यार, किसी ने किया सुसाइड तो कोई हो गया पागल

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×