Home »Gossip» Love Stories Of Famous Bollywood Couples

बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से

ऐसे कई कपल्स हैं जिनका प्यार सालों बाद भी बरकरार है।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 09, 2018, 03:47 PM IST

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें

    बॉलीवुड में ऐसे कई कपल्स हैं जिनका प्यार सालों बाद भी बरकरार है और वो आज भी साथ हैं। लेकिन इसी बॉलीवुड में ऐसे कपल्स भी कमी नहीं हैं, जिनका प्यार मंजिल तक नहीं पहुंच पाया। हम आपको बता रहे हैं ऐसी ही 10 जोड़ियों के बारे में जो साथ रहे या दूर,उनके इश्क के चर्चे हमेशा मशहूर हुए।

    ऐश्वर्या राय और सलमान खान
    फिल्म 'हम दिल दे चुके सनम' में पहली और आखिरी बार नजर आई इस जोड़ी को इंडस्ट्री की मोस्ट चार्मिंग जोड़ी माना गया था, पर दोनों का रिश्ता इस कदर टूटा कि अब ये एक-दूसरे को देखना तक पसंद नहीं करते। सलमान के ओवर इमोशनल होने की वजह से दोनों के रिश्ते खराब हो गए और आखिर में ऐश्वर्या ने इस रिश्ते को खत्म ही कर दिया।

    ऐश्वर्या राय बच्चन और अभिषेक बच्चन

    ऐश्वर्या राय बच्चन और अभिषेक बच्चन की शादी को 11 साल पूरे होने वाले हैं। दोनों की शादी 20 अप्रैल, 2007 को हुई थी। शादी बच्चन फैमिली के बंगले 'प्रतीक्षा' में हुई और रिसेप्शन ताज होटल में हुआ था। शादी के वक्त ऐश्वर्या राय 33 साल की थीं जबकि अभिषेक की उम्र 31 साल थी। आज दोनों 5 साल की बेटी आराध्या के माता-पिता हैं।

    एक इंटरव्यू में अभिषेक ने बताया था कि टोरंटो में जनवरी 2007 में हुए फिल्म 'गुरु' के प्रीमियर के बाद, होटल की बालकनी में उन्होंने ऐश्वर्या को प्रपोज किया था। बकौल अभिषेक, "मैं ऐश को प्रपोज करते वक्त काफी नर्वस था, लेकिन हिम्मत करके मैंने उन्हें दिल की बात बता दी और ऐश ने हां करने में एक सेकंड का भी समय नहीं लिया।" ऐश्वर्या और अभिषेक ने 7 साल में 'ढाई अक्षर प्रेम के'(2000), 'कुछ ना कहो'(2003), 'बंटी और बबली'(2005), 'उमराव जान'(2005), 'धूम-2'(2006), और 'गुरु'(2007) को मिलाकर 6 फिल्मों में काम किया। वहीं शादी के बाद दोनों की फिल्म 'सरकार राज'(2008) और 'रावन'(2010) रिलीज हुई।

    आगे जानिए बाकी फेमस लव स्टोरीज के बारे में...

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें
    शाहरुख-गौरी खान

    बात 1984 की है जब दिल्ली के पंचशील क्लब में चल रही एक पार्टी में 19 साल के शाहरुख की नजर, 14 साल की गौरी पर पड़ी थी। शाहरुख उन्हें बस देखते ही रह गए थे। उस पार्टी में शाहरुख खान ने गौरी को किसी और लड़के के साथ डांस करते देखा और उन्हें गौरी से प्यार हो गया। लेकिन उस रोज, शर्मीले शाहरुख, गौरी से बात करने की हिम्मत नहीं जुटा पाए थे। इसके बाद तो जिस पार्टी में भी गौरी के पहुंचने की उम्मीद होती, शाहरुख भी उस पार्टी में पहुंच जाते। 25 अक्टूबर, 1984 को तीसरी मुलाकात में शाहरुख ने गौरी के घर का फोन नंबर हासिल कर ही लिया।

    कोडवर्ड में होती थी बातें
    शाहरुख को गौरी पसंद आ गई थीं। उनसे फोन पर बात करने का तरीका भी शाहरुख ने निकाला। वो अपनी किसी दोस्त से गौरी के घर फोन करवाते। गौरी के घर जो भी फोन उठाता, शाहरुख की दोस्त उसे अपना नाम शाहीन बताती। शाहीन कोडवर्ड था जिसे सुनकर गौरी समझ जाती कि फोन शाहरुख का है। गौरी के घर किसी को शक भी नहीं होता था और फिर शाहरुख और गौरी देर तक बातें करते। गौरी और शाहरुख की मुलाकात पार्टियों में ही हो पाती थी जहां गौरी की फीमेल फ्रेंड्स भी उनके साथ होती थीं। धीरे-धीरे ये दोनों लॉन्ग ड्राइव पर भी जाने लगे।


    ऐसे किया था शाहरुख ने प्रपोज
    मुश्ताक शेख द्वारा लिखित अपनी बायोग्राफी 'शाहरुख केन' में एसआरके उन दिनों को याद करते हुए कहते हैं, "एक दिन मैंने गौरी को उसके घर छोड़ा, जब वो गाड़ी से उतर रही थी तो मैंने उससे कहा मैं तुमसे शादी करूंगा? इसके बाद बिना उसका जवाब सुने मैं अपनी गाड़ी लेकर वहां से चला आया।"


    पजेसिव शाहरुख से परेशान थी गौरी
    शाहरुख, गौरी को लेकर बहुत ही पजेसिव थे। इतने पजेसिव कि वे अगर अपने बालों को खोल कर रखें तो शाहरुख उनसे लड़ने लगते थे। एक मैगजीन में छपे अपने लेख में शाहरुख ने कहा था, "उस समय गौरी को लेकर मेरी दीवानगी बेहद बढ़ चुकी थी। अगर वो स्विमसूट पहनती या अपने बाल खुले रखती तो मैं उससे लड़ने लगता था। जब वो अपने बाल खोलती थी तो बेहद खूबसूरत लगती थी। मैं नहीं चाहता था कि दूसरे लड़के उसे देखें। मेरे अंदर असुरक्षा की भावना आ गई थी क्योंकि हम ज्यादा मिल नहीं पाते थे और अपने रिश्ते के बारे में ज्यादा बात भी नहीं कर पाते थे।" शाहरुख की इसी आदत से परेशान होकर गौरी उन्हें दिल्ली में छोड़कर बिना बताए मुंबई आ गई थी। शाहरुख, गौरी को मनाने मुंबई तक जा पहुंचे थे। उन्हें पता नहीं था कि गौरी मुंबई में कहां रह रही हैं तब भी उन्होंने कई दिनों तक मुंबई की गलियों की खाक छानी। बहुत ढूंढने के बाद एक दिन शाहरुख ने गौरी को मुंबई के अक्सा बीच पर ढूंढ़ निकाला। शाहरुख को देख गौरी रोने लगी थी।


    दो बार हुई शादी
    शाहरुख और गौरी तो अपने प्यार को शादी में बदलने के लिए तैयार थे मगर दोनों के धर्म अलग होने की वजह से इनके घरवालों को कड़ी आपत्ति थी। शाहरुख ने गौरी के परिवार वालों को मनाने के लिए खूब पापड़ बेले और उन्हें मनाने में आखिरकार कामयाब हो ही गए। गौरी के माता-पिता समझ चुके थे कि गौरी और शाहरुख अब किसी भी तरह उनकी बात नहीं मानेंगे इसलिए आखिरकार उन्होंने उनकी शादी के लिए हां कह दिया था। शाहरुख और गौरी का निकाह भी हुआ जिसमें गौरी का नाम आयशा रखा गया। इसके बाद 25 अक्टूबर, 1991 को हिंदू रीति-रिवाजों के मुताबिक दोनों की शादी हुई। शादी के संगीत में शाहरुख-गौरी ने जमकर डांस किया था।

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें
    काजोल और अजय देवगन

    24 फरवरी, 1999 को अजय ने काजोल के साथ सात फेरे लिए थे। लेकिन इनका मिलना आसान नहीं था। एक वक्त ऐसा भी था जब ये दोनों किसी और के साथ रिलेशनशिप में थे।


    एक इंटरव्यू में काजोल ने बताया था कि अजय के साथ पहला शॉट ('हलचल' के लिए) देते हुए ही उन्हें यह रियलाइज हो गया था कि यह आदमी उनकी जिंदगी में बेहद अहम रोल प्ले करेगा। हालांकि, उस वक्त काजोल और अजय दोनों ही किसी और के साथ रिलेशनशिप में थे। दोनों दोस्तों की तरह साथ वक्त बिताते थे। उस दौरान काजोल अजय से अपने रिलेशनशिप और लव-लाइफ को लेकर एडवाइस लिया करती थीं और 'बाबा जी' की तरह अजय उन्हें टिप्स देते थे।
    कैसे करीब आए काजोल-अजय
    दोनों की पहली मुलाकात 'हलचल' की शूटिंग पर हुई थी। पहले दोस्त बने। जब काजोल, अजय से पहली बार मिली थी तो यह देखा कि उन्हें एक किनारे अकेले बैठना पसंद है। ज्यादा बातें भी नहीं करते थे। तब काजोल को लगता था कि ऐसा भला कैसे हो सकता है कि कोई बात नहीं करे। मगर धीरे-धीरे वह काजोल से बात करने लगे और उनकी दोस्ती हो गई। इस फिल्म के बाद दोनों ने एक साथ कई फिल्में कीं जो हिट रहीं जैसे 'इश्क', 'प्यार तो होना ही था', 'दिल क्या करे', 'राजू चाचा' और 'यू मी और हम'। समय के साथ अजय और काजोल का प्यार परवान चढ़ता गया और आखिरकार 1999 में दोनों ने शादी कर ली। शादी देवगन हाउस में परंपरागत महाराष्ट्रियन स्टाइल में हुई थी। दोनों बेटी न्यासा और बेटे युग के पेरेंट्स हैं।


    इसलिए काजोल ने की अजय से शादी
    शादी के 17 साल बाद, सितंबर 2016 में काजोल ने बताया कि उन्होंने अजय से शादी क्यों की! एक इंटरव्यू में काजोल ने खुलासा किया कि वे ज़िंदगी और करियर में ठहराव चाहती थीं। उन्होंने कहा कि मुझे काम करते हुए तकरीबन 9 साल हो गए थे। हर साल 4-5 फिल्में आ रही थीं। मेरे पास सब कुछ था — पैसा, शोहरत और कामयाबी, पर खुद के लिए न वक्त था, न सुकून। एक बड़ा फैसला लेने का वही सही वक्त था।’ उस वक्त मैंने तय किया कि अब शादी करूंगी और साल में ज्यादा से ज्यादा एक फिल्म में अभिनय करूंगी।’
    शादी के बारे में बात करते हुए काजोल भावुक हुईं और मेमोरी लेन में खो गईं। उन्होंने बताया, ‘माथे पर आपस में जुड़ी घनी आईब्रो के साथ स्क्रीन पर दिखने का फैसला लेना भी आसान नहीं था। मेरे दोस्त मिकी ने मेरा हौसला बढ़ाया और भरोसा दिलाया कि इस तरह वे बाकी हीरोइनों से अलग नज़र आएंगी और दर्शकों के बीच पसंद भी की जाएंगी।’

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें
    करीना कपूर और सैफ अली खान

    करीना कपूर और सैफ अली खान की शादी को पिछले साल पांच साल पूरे हुए थे। पहले अफेयर, फिर लिव-इन और पांच साल की रिलेशनशिप के बाद दोनों शादी के बंधन में बंधे। दोनों का एक बेटा है तैमूर अली खान। बता दें कि सालों की जान-पहचान के बावजूद इस प्यार को परवान चढ़ने में लंबा समय लगा। एक तरफ करीना जहां बॉलीवुड के सबसे प्रभावशाली कपूर परिवार में जन्मीं, वहीं सैफ रॉयल फैमिली के नवाब मंसूर अली खान पटौदी और शर्मिला टैगोर के बेटे थे। अलग-अलग मजहब को मानने के कारण भी इन दोनों की शादी हमेशा चर्चा में बनी रही।

    शाहिद से ब्रेकअप के बाद सैफ के करीब आईं करीना...

    2007 के आसपास शाहिद कपूर से ब्रेकअप होने के बाद करीना कपूर की नजदीकियां सैफ अली खान के साथ बढ़नी शुरू हुई थीं। फिल्म 'ओमकारा' के बहुत कम सीन सैफ और करीना को एक साथ शूट करने थे। सेट पर दोनों साथ-साथ दिखते। जब करीना या सैफ के सीन भी साथ में न होते तो भी सेट पर साथ बने रहते। ओमकारा के बाद सैफ करीना की नजदीकी यशराज बैनर की फिल्म 'टशन' की शूटिंग के समय दिखी।

    शूटिंग के दौरान निकल जाते थे लॉन्ग वॉक पर
    शूटिंग से वक्त निकालकर यह दोनों लांग वॉक पर जाते। इन दोनों के अफेयर के गॉसिप बनने शुरू हो चुके थे पर मीडिया के सामने दोनों ने ही इसे नहीं स्वीकारा। लैक्मे फैशन वीक के दौरान सैफ-करीना पहली बार साथ-साथ एक ही गाड़ी से आए। यहां पहली बार सैफ अली खान ने माना कि वह करीना को डेट कर रहे हैं। 2010 में एक बार यह बात चर्चा में आई थी कि सैफ करीना जल्द ही शादी के बंधन में बंधने वाले हैं। फिर अनौपचारिक खंडन भी आया।

    लव जिहाद को लेकर भी थी चर्चा
    कुछ संगठनों ने इस शादी को लव जिहाद बताया था। इस पर करीना ने कहा था, 'मैं लव में यकीन करती हूं लव जिहाद में नहीं। मुझे लगता है कि प्यार एक ऐसी चीज है, जिसे आप परिभाषित नहीं कर सकते। इसमें एक जुनून, ललक और बहुत सी चीजें होती हैं। और इसके बीच कोई महजब की दीवार नहीं होती। अब अगर एक हिंदू लड़का है और वह किसी मुस्लिम लड़की से प्यार करने लगता है, तो आप उन्हें रोक नहीं सकते। आप प्यार किसी से पूछकर नहीं करते हैं'।

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें
    डेनियल वेबर-सनी लियोनी

    रील लाइफ में सनी को हमेशा बोल्ड अवतार में देखा गया है, लेकिन रियल लाइफ में वह काफी सॉफ्ट स्पोकन इंसान हैं। यह बात उनके पति डेनियल वेबर ने खुद बताई थी। दरअसल, एमटीवी के स्प्लिट्सविला 8 के प्रमोशनल इवेंट के दौरान सनी और उनके पति डेनियल ने कई बातों का खुलासा किया था। वैसे, सनी के पति डेनियल वेबर भी एडल्ट फिल्म इंडस्ट्री के स्टार रह चुके हैं। 2011 में सनी और डेनियल की शादी हुई थी। डेनियल ने सनी को पहली बार एक रेस्टोरेंट में देखा था...

    सनी और डेनियल की शादी को करीब 9 साल हो चुके हैं, लेकिन आंखों ही आंखों में इशारे वाला प्यार आज भी बरकरार है। डेनियल के मुताबिक "मैंने सनी को पहली बार लॉस वेगास के एक रेस्टोरेंट में देखा था। मैं वहां अपने बैंड के शो करने गया था और सनी दोस्तों के साथ छुटि्टयां बिताने आई थी। मुझे उससे पहली नजर में प्यार हो गया। मेरा एक दोस्त उसे जानता था।"

    सनी को रेस्टोरेंट में हमेशा फूलों का गुलदस्ता मिलता था...
    वहीं, सनी लियोनी के मुताबिक, "उस दिन डेनियल मेरे पास आए और मेरा नाम पूछकर अपनी टेबल पर चले गए। उसके बाद जब भी मैं उस रेस्टोरेंट में जाती तो एक फूलों का गुलदस्ता मुझे मिल जाता। डेनियल की यही अदा मुझे भा गई।"


    मुझे पोर्न स्टार का पति कहलाने में कोई दिक्कत नहीं...
    एक इंटरव्यू में डेनियल ने कहा था, 'इंडिया में एडल्ट फिल्म में काम करने को अच्छा नहीं माना जाता मगर मैं सनी से बहुत प्यार करता हूं।मुझे उनके पोर्न स्टार होने पर कोई अफ़सोस नहीं है और न ही मुझे एक पोर्न स्टार का पति कहलाने में कोई परेशानी है। मुझे अपनी पोर्न स्टार वाइफ पर गर्व है। हम अच्छे दोस्त हैं,बिजनेस पार्टनर्स हैं और चौबीस घंटे साथ रहते हैं।'

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें
    अनिल कपूर-सुनीता

    अनिल कपूर और उनकी पत्नी सुनीता की लव स्टोरी इंट्रेस्टिंग है। कम ही लोग जानते होंगे कि सुनीता की आवाज सुनने को बेकरार रहने वाले अनिल ने दोस्तों की सलाह के चलते दो बार शादी पोस्टपॉन्ड कर दी थी।जब दोनों की पहली मुलाकात हुई थी, तब अनिल कपूर एक स्ट्रगलिंग एक्टर थे और सुनीता एक जानी-मानी मॉडल। अनिल, सुनीता को देखकर उन्हें अपना दिल दे बैठे थे। वे उनके करीब आना चाहते थे, लेकिन उनके पास सुनीता तक पहुंचने का कोई जरिया नहीं था। फाइनली, उनके दोस्तों ने उन्हें टेलीफोन नंबर प्रोवाइड कराया। इसके बाद दोनों की बातचीत शुरू हो गई। अनिल, सुनीता की आवाज के दीवाने हो गए थे।

    अनिल कपूर का पूरा खर्च उठाती थीं सुनीता...
    एक रोज हिम्मत करके उन्होंने डेट पर जाने का प्रस्ताव रख दिया, सुनीता ने खुशी-खुशी स्वीकार कर लिया। इसके बाद दोनों बस और टैक्सी से मुंबई की खूबसूरत जगहों की सैर करने लगे। सुनीता नामी मॉडल होने के बाद भी बस से घूमने में आपत्ति नहीं जताती थीं। वे ही अनिल का पूरा खर्च उठाती थीं। आखिरकार अनिल ने उन्हें प्रपोज कर दिया और बात शादी तक आ गई।
    दोस्तों ने कहा था- शादी करके करियर खत्म हो जाएगा...
    अनिल को भी फिल्में मिलना शुरू हो गईं और 1984 में आई फिल्म ‘मशाल’ से उन्हें खासी पहचान मिली। दोनों की शादी पर उनके परिवार वालों को तो आपत्ति नहीं थी, लेकिन अनिल के बॉलीवुड के दोस्तों को आपत्ति थी। उन्होंने अनिल को सलाह दी कि शादी के बाद उनका करियर खत्म हो जाएगा। दो बार उन्होंने शादी की डेट भी टाल दी। फिर ठंडे दिमाग से सोचा और शादी करने का फैसला कर ही लिया। 19 मई, 1984 को दोनों को रिश्ता पति-पत्नी का हो गया।
    सुनीता ने शादी के बाद छोड़ी थी मॉडलिंग...
    शादी के बाद सुनीता ने अनिल के करियर को ही अपना करियर मान लिया। उन्होंने मॉडलिंग छोड़कर घर संभाला और अनिल का साथ दिया। वे उनके लिए ड्रेस डिजाइन करने से लेकर उनके साथ शूटिंग पर विदेश तक जाती थीं। कई बार अनिल का नाम माधुरी दीक्षित के साथ जोड़ा गया, लेकिन उन्होंने इसे अफवाह मानकर टाल दिया।

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें
    बॉबी और तान्या

    बॉबी देओल की वाइफ का नाम है तान्या। बॉबी और तान्या की लव स्टोरी कम दिलचस्प नहीं है। बॉबी अपने कुछ दोस्तों के साथ बैठकर एक रेस्त्रां में चाय पी रहे थे। वहीं तान्या भी बैठीं थीं। बॉबी को पहली ही नजर में तान्या से प्यार हो गया। बाद में बॉबी ने तुरंत तान्या के बारे में पता किया। दोनों में बातचीत शुरू हुई और मिलने का फैसला किया। बॉबी, तान्या को लेकर उसी रेस्त्रां में गए जहां पहली बार उन्होंने तान्या को देखा था। बस फिर क्या था दोनों के परिवार वालों ने मुलाकात की।

    धर्मेंद्र को तान्या बेहद पसंद आई...

    पिता धर्मेंद्र को तान्या इतनी पसंद आईं कि बॉबी और उनकी चट मंगनी और पट ब्याह हो गया। तान्या और बॉबी की शादी 1996 में हुई थी। तान्या काफी बड़े बिजनस घराने से ताल्लुक रखती हैं। उनका खुद का फर्नीचर और होम डेकोरेशन का बिजनेस द गुड अर्थ के नाम से है, जिसके क्लाइंट कई बॉलीवुड स्टार्स और बिजनसमैन हैं। तान्या बतौर डिजाइनर अपना काम बखूबी कर रही हैं। वो कहती हैं कि बॉबी उनके काम में ज्यादा दखल नहीं देते, लेकिन अच्छे काम पर बॉबी और सनी भैया दोनों तारीफ करते हैं।

    तान्या ने फिल्मी पार्टी से बनाए रखी दूरी
    तान्या ग्लैमर की दुनिया से हमेशा दूर ही रही हैं। वे बॉलीवुड की पार्टीज में भी कम नजर आती हैं, लेकिन संजय कपूर की पत्नी महिप और सोहेल खान की पत्नी सीमा उनकी काफी अच्छी दोस्त हैं। बॉबी और तान्या की पारिवारिक जिंदगी बेहद खुशनुमा रही है। बॉबी देओल के दो बेटे भी हैं आर्यमान और धरम।

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें
    सुनील शेट्टी-माना

    सुनील शेट्टी उर्फ अन्ना और माना की शादी को पिछले साल 25 साल पूरे हुए थे। आज ही के दिन 1991 में दोनों ने सात फेरे लिए थे। कम ही लोग जानते होंगे कि साउथ इंडिया से ताल्लुक रखने वाले सुनील शेट्टी ने जिस लड़की से शादी की, वह गुजरात की हैं और उनका असली नाम माना कादरी है। सुनील शेट्टी ने कई मौकों पर अपनी लव स्टोरी के बारे में बताया है। उनके प्यार की कहानी एक पेस्ट्री शॉप से शुरू हुई थी। यहां सुनील ने पहली बार माना को देखा था और अपना दिल दे बैठे थे। उनसे मिलने के लिए दिल में पली हसरतें हर दिन के साथ बढ़ती गई।

    माना की बहन को बनाया दोस्त...

    उस समय मोबाइल या सोशल साइट नहीं थी, लिहाजा मुलाकात नहीं हो पाती थी। ऐसे में सुनील ने माना की बहन को अपना दोस्त बनाया। माना की बहन ने दोनों की मुलाकात कराई और मौका पाते ही सुनील ने खुलकर माना से अपने प्यार का इजहार कर दिया। माना ने भी हामी भर दी। फिर क्या 9 सालों तक दोनों के बीच प्यार की इबारत लिखी जाती रही और 1991 में शादी कर ली। दोनों के दो बच्चे (बेटी अथिया और बेटा अहान) हैं। अथिया फिल्म 'हीरो' से बॉलीवुड डेब्यू कर चुकी हैं। जबकि अहान भी जल्दी ही फिल्म इंडस्ट्री में एंट्री ले सकते हैं।


    क्रिकेट के साथ किक बॉक्सिंग भी जानते हैं सुनील
    माना मुंबई के वर्ली इलाके में अपना इंटीरियर शोरूम चलाती हैं, जबकि सुनील का अपना होटल इंडस्ट्री का कारोबार है। वे सफल अभिनेता होने के साथ ही सफल कारोबारी भी हैं। मोटेतौर पर उन्हें ही फिल्म कलाकारों को एक्टिंग के साथ खुद का बिजनेस करने की परंपरा शुरू करने का श्रेय जाता है। क्रिकेट के साथ ही वे किक बॉक्सिंग भी अच्छी कर लेते हैं।

  • बेहद मशहूर हैं बॉलीवुड की इन 10 जोड़ियों के प्यार के किस्से
    +8और स्लाइड देखें
    शशि कपूर-जेनिफर कैंडल

    शशि कपूर का 79 साल की उम्र में पिछले साल निधन हो गया था। बात अगर उनकी लव लाइफ की करें तो शशि और जेनिफर कैंडल ने कभी फिल्मों में साथ काम नहीं किया। फिर भी 50 के दशक की ये सबसे चर्चित जोड़ी रही। दरअसल, जेनिफर ब्रिटिश ऑर्टिस्ट थीं और शशि पृथ्वी थिएटर में प्रैक्टिस करते थे। जेनिफर पूर्वी एशिया की यात्रा पर अपने पिता के आई नाटक मंडली ‘शेक्सपिएराना’ का हिस्सा थीं। इसी दौरान दोनों की पहली मुलाकात हुई और शशि कपूर जेनिफर को अपना दिल दे बैठे।


    20 की उम्र में की थी शादी...

    शशि के पिता पृथ्वीराज कपूर और भाई राजकपूर और शम्मी कपूर फिल्म इंडस्ट्री के जाने माने अभिनेता रहे। बावजूद इसके वे थिएटर में रुचि रखते थे और यही उनकी जेनिफर से मुलाकात की वजह बनी।पृथ्वी थिएटर में पचास रु. मासिक मेहनताने पर शशि ने अपनी स्टेज पर काम करने की तमन्ना पूरी की और भारत यात्रा पर आई नाटक मंडली ‘शेक्सपिएराना’ में शामिल हो गए।इस दौरान मंडली के संचालक मिस्टर कैंण्डल की बेटी जेनिफर के साथ कई नाटकों में काम किया। शेक्सपियर के प्रमुख नाटक 'द टेम्पेस्ट' में मिरांडा का किरदार निभाने के दौरान जेनिफर और शशि का प्यार परवान चढ़ा।1957 में शशि ने जेनिफर थियेटर ग्रुप के साथ सिंगापुर जाकर नाटक का मंचन किया। इस दौरान दोनों और करीब आए। ऊटी में एक नाटक के दौरान शशि की भाभी गीता बाली ने जेनिफर को दुपट्टा ओढ़ाया और 1958 में दोनों की शादी करा दी गई। उस वक्त शशि महज 20 साल के थे तो जेनिफर 25 की थीं।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Love Stories Of Famous Bollywood Couples
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×