Home »Gossip» 12 Bollywood Riches To Rags Stories Of Famous Celebrities

चोरी तो कोई भीख मांगते, जब बेहद खराब हालत में मिले ये 12 बॉलीवुड सेलेब्स

इमरान हाशमी के साथ काम कर चुकी एक्ट्रेस अलीशा खान को कुछ महीनों पहले दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में सड़कों पर इधर-उधर घूमते देखा गया था। वैसे, अलीशा इकलौती एक्ट्रेस नहीं हैं जो इस तरह के हालातों से गुजरी हैं...

dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 18, 2017, 04:49 PM IST

  • मुंबई.इमरान हाशमी के साथ काम कर चुकी एक्ट्रेस अलीशा खान को कुछ महीनों पहले दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में सड़कों पर इधर-उधर घूमते देखा गया था। वैसे, अलीशा इकलौती एक्ट्रेस नहीं हैं जो इस तरह के हालातों से गुजरी हैं। इससे पहले भी बॉलीवुड में कई स्टार्स ऐसे रहे, जो अपने समय में काफी फेमस थे, उनके पास सब कुछ था, लेकिन अचानक अर्श से फर्श पर जा पहुंचे। कोई पागलखाने में मिला तो किसी की गम में हो गई मौत...
    इतना ही नहीं, इनमें से कई तो इतनी बुरी हालत में मिले कि लोग इन्हें पहचान तक नहीं पाए। वहीं कुछ अकेलेपन की वजह से किसी पागलखाने में तो कुछ किसी गम में ही मर गए। नजर डालते हैं बॉलीवुड के कुछ ऐसे ही सेलेब्स की जिंदगी पर जिन्होंने, जिंदगी में बहुत बुरे दिन देखे...
    जगदीश माली
    अंतरा माली के पिता और फेमस फोटोग्राफर जगदीश माली को मुंबई की सड़कों पर भीख मांगते देखा गया था, जिसके बाद इंडस्ट्री का एक और चेहरा सामने आया। जगदीश को मिंक बरार नाम की मॉडल ने पहचाना, उन्हें खाना खिलाया और फिर सलमान खान की कार से उन्हें घर पहुंचाया था। जगदीश मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं लग रहे थे। वे फटे-पुराने कपड़े पहने थे जिससे अंदाजा लगाया जा सकता था कि वे उन दिनों कितनी बुरी जिंदगी बसर कर रहे थे। 13 मई, 2013 को उनकी मौत हो गई।
    गीतांजलि नागपाल
    कई नामी डिजाइनरों के लिए रैंप पर चल चुकी 32 साल की मॉडल गीतांजलि नागपाल साल 2007 में भीख मांगती हुई मिली थीं। उन्हें साउथ दिल्ली के एक पॉश बाजार में भीख मांगते हुए पाया गया था। मशहूर मॉडल से भिखारी बनने वाली गीतांजलि नागपाल को ड्रग की लत ने ऐसे जकड़ा कि वो अपनी जरूरत पूरी करने के लिए नौकरानी तक बन गई थीं। कभी सुष्मिता सेन जैसी हस्तियों के साथ कैट वॉक कर चुकी गीतांजलि आखिर एक दिन बदहवास हालत में फुटपाथ में मिली।
    आगे की स्लाइड्स में कुछ ऐसे ही और सेलेब्स, जिन्होंने जिंदगी में देखे बहुत बुरे दिन...
  • मिताली शर्मा
    मुंबई पुलिस ने हाल ही में लोखंडवाला की सड़कों पर भीख मांगती और चोरी करती हुई एक 25 वर्षीय एक्ट्रेस को पकड़ा है। जब ओशिवरा थाने की दो लेडी पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया, तो उसने पुलिस को पहले गालियां दी। एक से अपना हाथ छुड़वाया तो दूसरी को काट कर भागने की कोशिश की। मिताली शर्मा मूल रूप से दिल्ली की रहने वाली हैं। वे भोजपुरी फिल्मों के साथ मॉडलिंग असाइनमेंट भी कर चुकी हैं।
    - घर वालों को छोड़, मिताली मुंबई अपनी किस्मत आजमाने आईं थी। जिससे बाद परिवार वालों ने उसे छोड़ दिया था।
    - कुछ फिल्में और मॉडलिंग करने के बाद उसे पिछले कई महीनों से काम नहीं मिल रहा था। पैसों की किल्लत की वजह से वो डिप्रेशन में चली गई।
    - जिस हालत में मिताली पुलिस को मिली है, उसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि पिछले कई दिनों में उसने कुछ भी खाया नहीं था।
    - जब पुलिस उन्हें पकड़कर थाने लाई, तो सबसे पहले मिताली ने खाने की मांग की। उनकी स्थिति को देखते हुए ठाणे के मेंटल एसालइलम में भर्ती कराया गया।
  • परवीन बाबी
    'दीवार', 'नमक हलाल', 'अमर अकबर एंथोनी' और 'शान' जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम करने वाली परवीन बाबी की मौत मुंबई के उनके अपार्टमेंट में हुई थी। 22 जनवरी, 2005 को उनकी लाश उनके अपार्टमेंट में मिली थी। उनके पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी कि वे पिछले तीन दिन से अखबार और दूध आदि नहीं ले रही हैं। इसके बाद पुलिस ने उनका शव बरामद किया। परवीन मुंबई में काफी समय से अकेले रहती थीं। वह डिप्रेशन की शिकार थीं और उन्होंने अपने आपको दुनिया से पूरी तरह काट लिया था। वह किसी से मिलना-जुलना पसंद नहीं करती थीं और फिल्मों से अचानक गायब होकर गुमनामी में खो गई थीं। उनकी मौत कई अनसुलझे सवाल छोड़ गई।
  • भारत भूषण
    1940 के सबसे बड़े स्टार्स में से एक भारत भूषण का अंत भी बेहद बुरा हुआ था। उन्हें हिंदी सिनेमा के बेहतरीन एक्टर्स में शुमार किया जाता है। खासकर उनकी धार्मिक फिल्में बॉक्स ऑफिस पर गोल्डन जुबली मनाने के लिए मशहूर थीं। 'आनंद मठ', 'मिर्ज़ा ग़ालिब', 'बरसात की रात' और 'जहां आरा' जैसी हिट फिल्में देने वाले भारत भूषण की जिंदगी में एक ऐसा दौर भी आया, जब उन्हें किसी ने नहीं पूछा। मीना कुमारी से अफेयर को उनके करियर का डाउन फॉल माना जाता है। फिर उन्हें एक और झटका तब लगा, जब उनके पास फिल्मों के ऑफर आने बंद हो गए। भारत भूषण के पास जिंदगी गुजर-बसर करने तक के पैसे नहीं बचे और उन्होंने एक फिल्म स्टूडियो में वॉच मैन की नौकरी की। उनकी मौत 1992 में एक किराये के मकान में हुई।
  • ए. के. हंगल
    बॉलीवुड फिल्मों में चरित्र भूमिकाएं निभाने वाले मशहूर अभिनेता ए. के. हंगल ने 95 वर्ष की उम्र में 26 अगस्त, 2012 की सुबह दुनिया को अलविदा कह दिया था। कई मशहूर फिल्मों में काम कर चुके ए. के. हंगल का अंतिम समय भी बेहद कष्ट में बीता। उनके पास इलाज कराने तक के पैसे नहीं थे और बेटे ने भी इलाज में लगने वाले पैसों का इंतजाम करने में असमर्थता जताते हुए हाथ खड़े कर दिए थे। बाद में उनकी बदहाली की खबर सुनकर अमिताभ बच्चन मदद को आगे आये थे और उन्होंने 20 लाख रुपए ए. के. हंगल के इलाज के लिए देने की बात कही।
  • अचला सचदेव
    'ऐ मेरी ज़ोहरा ज़बीं तुझे मालूम नहीं तू अभी तक है हसीं...जी हां, वही गाना जो 'वक्त' फिल्म की अहम किरदार बीबी (अचला सचदेव) को देखकर बलराज साहनी ने गाया था। अचला सचदेव का निधन अप्रैल 2012 में हुआ। अचला 2002 में पति की मौत के बाद से अकेले पुणे में रह रही थीं। उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं था। एक दिन पीने का पानी लेने गई अचला फिसल गईं और उनकी जांघ की हड्डी टूट गई। अचला के पारिवारिक मित्र राजीव नंदा के अनुसार, उन्होंने बॉलीवुड की प्रमुख हस्तियों को फोन पर उनकी बीमारी के बारे में बताया, लेकिन उनकी खोज-खबर लेने कोई नहीं आया था। अचला का बेटा अमेरिका में और बेटी मुंबई में रहती थी, लेकिन वे भी मां के संपर्क में नहीं थे।
    जहां देती थीं दान, उसी फाउंडेशन ने अंतिम समय में दिया सहारा
    उनके अकेलेपन को देखते हुए 'जनसेवा फाउंडेशन' ने उन्हें अपने गेस्ट हाउस मे रखा और जब उन्हें पूना हॉस्पिटल मे भर्ती कराया गया, तो वहां उनके इलाज का खर्चा भी जनसेवा फाउंडेशन ने उठाया। गौर करने वाली बात है कि अचला सचदेव ने इसी 'जनसेवा फाउंडेशन' को और कई संस्थाओं को लाखों के डोनेशन दिए थे। यहां तक कि उन्हीं के पैसों से एक अस्पताल बनाया गया है, जहां गरीबों का इलाज किया जाता है।
  • भगवान दादा
    भगवान दादा अभिनेता और फ़िल्म निर्देशक थे। भगवान दादा अपनी कॉमेडी फ़िल्म 'अलबेला' के लिए जाने जाते हैं। हिंदी फ़िल्मों में नृत्य की एक विशेष शैली की शुरुआत करने वाले भगवान दादा ऐसे 'अलबेला' सितारे थे, जिनसे महानायक अमिताभ बच्चन सहित आज की पीढ़ी तक के कई कलाकार प्रभावित और प्रेरित हुए। मगर कभी सितारों से अपने इशारों पर काम कराने वाले भगवान दादा का करियर एक बार जो फिसला तो फिर फिसलता ही गया। आर्थिक तंगी का यह हाल था कि उन्हें आजीविका के लिए चरित्र भूमिकाएं और बाद में छोटी-मोटी भूमिकाएं करनी पड़ी। बदलते समय के साथ मायानगरी के उनके अधिकतर सहयोगी उनसे दूर होने लगे। सी. रामचंद्र, ओम प्रकाश, राजिन्दर किशन जैसे कुछ ही मित्र थे जो उनके बुरे वक्त में उनसे मिलने जाया करते थे। 4 फ़रवरी, 2002 को 89 साल की उम्र में अपना दर्द समेटे हुए बेहद खामोशी से वे इस दुनिया को विदा कह गए।
  • ओपी नय्यर
    प्रसिद्ध संगीतकार ओपी नय्यर (उम्र 81 वर्ष) का निधन 28 जनवरी, 2007 को हुआ। ओपी ने कई यादगार धुनें बनाईं और बगैर लता के कामयाब होकर दिखाया। अंतिम दिनों में उन्होंने भी काफी तंगहाली में अपना जीवन गुजारा। परिवार से अलग होने के बाद एक फैन के घर पर भी रहे। उन्हें शराब की ऐसी लत लगी थी कि अंतिम समय में भी जब कोई शख्स उनसे इंटरव्यू लेने जाता तो वह पैसों और शराब की मांग करते।
  • राज किरण
    सबसे बड़ा मामला 2010 में एक्टर राज किरण का सामने आया था। 'अर्थ' फिल्म में काम कर चुके राज किरण पिछले कई सालों से अमेरिका के अटलांटा स्थित एक पागलखाने में भर्ती थे । मुश्किल घड़ी में उनके अपनों ने ही साथ छोड़ दिया था। राज किरण की मौत की भी खबर उड़ी। यह अफवाह खुद राज किरण के दोस्तों ने ही उड़ाई, लेकिन सुभाष घई की फिल्म 'कर्ज' में राज किरण के साथ काम कर चुके ऋषि कपूर को इस बात पर विश्वास नहीं हुआ और उन्होंने राज किरण का पता लगाने का फैसला किया। उन्होंने राज को अपनी अमेरिकी यात्रा में ढूंढ निकाला। हालांकि इसके बाद क्या हुआ, इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं है।
  • सतीश कौल
    पंजाबी सिनेमा के अमिताभ बच्चन के नाम से मशहूर अभिनेता सतीश कौल आज गुमनामी की जिंदगी जी रहे हैं। डॉक्टरों की मानें तो सतीश डिप्रेशन के शिकार हैं। किसी ने उन्हें कुछ समय पहले अस्पताल में भर्ती कराया था। तब से अब तक उनके परिवार से कोई भी उनसे मिलने नहीं आया।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×