Home »News» Why Sridevi Was Given A State Funeral: Raj Thackeray

श्रीदेवी की स्टेट फ्यूनरल पर उठा सवाल, जानिए किसे मिलता है राजकीय सम्मान

मनसे के अध्यक्ष राज ठाकरे ने श्रीदेवी के अंतिम संस्कार के दौरान उन्हें राजकीय सम्मान देने पर सवाल उठाए हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 20, 2018, 04:21 PM IST

  • श्रीदेवी की स्टेट फ्यूनरल पर उठा सवाल, जानिए किसे मिलता है राजकीय सम्मान
    +2और स्लाइड देखें
    श्रीदेवी को तिरंगे में लपेटर अंतिम विदाई दी गई थी।

    मुंबई.महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने श्रीदेवी के अंतिम संस्कार के दौरान उन्हें राजकीय सम्मान देने पर सवाल उठाए हैं। एक प्रोग्राम के दौरान मनसे सुप्रीमो ने कहा- जब श्रीदेवी जैसी हस्ती का निधन होता है। आप उनका पार्थिव शरीर तिरंगे में लपेटते हैं। और ये कहते हैं कि वो पद्मश्री थीं। ये महाराष्ट्र सरकार की भूल थी। क्योंकि श्रीदेवी की मौत नशे की हालत में बाथटब में डूबने से हुई थी। बता दें कि 24 फरवरी को दुबई के एक होटल के बाथटब में डूबने से श्रीदेवी का निधन हो गया था।

    कहां बोले राज ठाकरे?

    - राज ठाकरे ने रविवार शाम गुड़ी पड़वा पर शिवाजी पार्क में एक रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा।
    - राज बोले- ये कहा जाता है कि श्रीदेवी की मौत बाथटब में डूबने से हुई। और उस दौरान वो काफी शराब पिए हुईं थीं। उस दौरान नीरव मोदी की चर्चा हो रही थी। लेकिन, मसला बदला गया। जब श्रीदेवी जैसी हस्ती का निधन होता है। आप उनका पार्थिव शरीर तिरंगे में लपेटते हैं। और ये कहते हैं कि वो पद्मश्री थीं। ये महाराष्ट्र सरकार की भूल थी।

    किसे मिलता है राजकीय सम्मान

    - इंडिया में राजकीय सम्मान राष्ट्रपति,पूर्व राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री के साथ-साथ राजनीति, साहित्‍य, कानून, विज्ञान और कला के क्षेत्र में महत्‍वपूर्ण योगदान देने वाले को राजकीय सम्‍मान दिया जा सकता है।
    - इसके अलावा, केंद्र और राज्य सरकार को यह अधिकार होता है कि वे जिसे इस सम्मान के लायक समझते हैं, उसे यह दिया जा सकता है।

    आगे की स्लाइड्स में जानिए क्या होती है राजकीय सम्मान देने की प्रोसेस...

  • श्रीदेवी की स्टेट फ्यूनरल पर उठा सवाल, जानिए किसे मिलता है राजकीय सम्मान
    +2और स्लाइड देखें
    श्रीदेवी की अंतिम यात्रा।

    यह होती है राजकीय सम्मान देने की प्रक्रिया

    - किसी पद्म अवॉर्डी या भारत रत्न धारक को यह सम्मान दिया जाना है या नहीं? यह फैसला भी केंद्र या राज्य सरकार को करना होता है।
    - मुख्यमंत्री बिना कैबिनेट मंत्रियों से बात किए इस सम्मान की इजाजत नहीं दे सकता।
    - जब राजकीय सम्मान पर फैसला हो जाता है तो राज्य के सीनियर पुलिस ऑफिसर्स जैसे डीजीपी और पुलिस कमिश्नर आदि को इसकी तैयारी की जिम्मेदारी सौंपी जाती है।

    आगे की स्लाइड्स में जानिए किसे मिला था पहला राजकीय सम्मान...

  • श्रीदेवी की स्टेट फ्यूनरल पर उठा सवाल, जानिए किसे मिलता है राजकीय सम्मान
    +2और स्लाइड देखें
    महात्मा गांधी की अंतिम यात्रा।

    किसे मिला था पहला राजकीय सम्मान

    - कथिततौर पर महात्मा गांधी वह पहले शख्स थे, जिनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया था।
    - इसके अलावा, जवाहर लाल नेहरू, लालबहादुर शास्त्री और इंदिरा गांधी की मौत प्रधानमंत्री पर पर रहते हुए हुई थी। तीनों को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई थी।
    - पूर्व प्रधानमंत्रियों में राजीव गांधी, मोरारजी देसाई और चन्द्र शेखर सिंह,पूर्व मुख्यमंत्रियों में ज्योति बसु और ई के मालॉन्ग की अंतिम विदाई राजकीय सम्मान के साथ हुई थी।
    - समाज में विशेष सम्मान रखने वाली मदर टेरेसा, गंगुभाई हंगल, भीमसेन जोशी, सत्य साईं बाबा, बाल ठाकरे, सरबजीत सिंह और एयर मार्शल अर्जन सिंह को राजकीय सम्मान दिया गया था।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Why Sridevi Was Given A State Funeral: Raj Thackeray
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×