Home »News» When Angry Anupam Kher Slapped A Media Reporter

जब एक रिपोर्टर ने लिखा-'अनुपम ने लड़की को छेड़ा', गुस्से में किया था लहूलुहान

7 मार्च 1955 को शिमला में जन्मे अनुपम जितने मिलनसार हैं उतने ही वे गुस्से वाले भी हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Mar 07, 2018, 05:39 PM IST

  • जब एक रिपोर्टर ने लिखा-'अनुपम ने लड़की को छेड़ा', गुस्से में किया था लहूलुहान
    +2और स्लाइड देखें
    अनुपम खेर।

    मुंबई.अनुपम खेर 63 साल के हो गए हैं। 7 मार्च 1955 को शिमला में जन्मे अनुपम जितने मिलनसार हैं उतने ही वे गुस्से वाले भी हैं। ऐसे ही एक इंसिडेंट का जिक्र 1992 में अंग्रेजी वेबसाइट द न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपने आर्टिकल में किया था। इस वेबसाइट में छपा था कि एक रिपोर्टर ने जब अपने आर्टिकल में अनुपम खेर पर एक लड़की को छेड़ने का आरोप लगाया तो उन्होंने उसे थप्पड़ रसीद कर दिया था। खुद अनुपम ने कबूली थी थप्पड़ मारने वाली बात...

    - अनुपम ने थप्पड़ मारने वाली बात कबूल करते हुए कहा था, "मुझे लगा कि स्टैंड लेना चाहिए। खबर पूरी तरह गलत थी और अगर मैं स्टैंड नहीं लेता तो मैं खुद से नजर नहीं मिला पाता।"
    - हालांकि, अनुपम खेर ने यह भी कहा था कि थप्पड़ वाला इंसिडेंट अनप्लांड था और जब उनका उससे सामना हुआ तो वह लहुलुहान था।
    - उस वक्त सनी देओल ने भी अनुपम खेर का साथ दिया था और कहा था कि अगर वे उनकी जगह होते तो रिपोर्टर की जान ले लेते।
    - इतना ही नहीं, दोनों स्टार्स ने मैगजीन के प्रति नाराजगी जाहिर की और तय किया कि वे 6 स्कैंडलस मैगजींस को कोई इंटरव्यू नहीं देंगे।
    - जिस मैगजीन को वे सबसे ज्यादा नापसंद करते थे, वही थी उस समय की सबसे ज्यादा सर्कुलेशन वाली इंग्लिश-हिंदी मैगजीन स्टारडस्ट। अनुपम का गुस्सा सीधे तौर पर इसके रिपोर्टर ट्रॉय रेबिरो पर था, जिसे उन्होंने थप्पड़ मारा था।

    क्या हुआ था अनुपम और रोबिरो के बीच

    ट्रॉय रोबिरो ने मैगजीन में छापा था कि अनुपम खेर ने एक एक्ट्रेस की बहन को सेक्शुअली हैरेस किया है। ट्रॉय ने यह भी लिखा था कि जब उन्होंने इस बारे में खेर से कहा कि लड़की ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है, तो उन्होंने कोई भी कमेंट करने से इनकार कर दिया था।

    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, अनुपम अदालत तक ले गए थे केस...

  • जब एक रिपोर्टर ने लिखा-'अनुपम ने लड़की को छेड़ा', गुस्से में किया था लहूलुहान
    +2और स्लाइड देखें

    अनुपम अदालत तक ले गए थे केस

    - अनुपम खेर ने इस मैगजीन को अदालत में घसीटा और परवाद दायर किया। उन्होंने खबर पर स्टे मांगा और वे जीत भी गए। लेकिन मैगजीन ने कोर्ट के आदेश को नजरअंदाज किया और खबर छाप दी।
    - बाद में बॉम्बे हाई कोर्ट ने मैगजीन के फैसले को कंटेम्प्ट ऑफ कोर्ट की श्रेणी में रखा और एडिटर को इसकी भरपाई करने का आदेश दिया। मैगजीन पर 500 रुपए का फाइन भी लगाया गया था।

    और बॉलीवुड पर लगा था डबल स्टैंडर्ड का आरोप, पढ़ें आगे की स्लाइड्स...

  • जब एक रिपोर्टर ने लिखा-'अनुपम ने लड़की को छेड़ा', गुस्से में किया था लहूलुहान
    +2और स्लाइड देखें

    सिने ब्लिट्ज की एडिटर ने लगाया था बॉलीवुड पर डबल स्टैंडर्ड का आरोप

    - जिन 6 मैगजींस को बॉलीवुड एक्टर्स ने निशाने पर लिया था, उनमें से एक सिने ब्लिट्ज भी थी। इस मैगजीन की एडिटर उस वक्त रीता मेहता थीं। रीता ने फिल्म इंडस्ट्री पर डबल स्टैंडर्ड का आरोप लगाते हुए कहा था, "वे अपने अफेयर की ख़बरों का विरोध इसलिए करते हैं, क्योंकि उनकी फैमिली को दुख होता है। लेकिन तब उनकी यह सोच कहां जाती है, जब वे अपनी पत्नियों को घर पर छोडकर गर्लफ्रेंड्स के साथ पार्टियां अटैंड करते हैं।"

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending

Top
×