Home »News» Salman Was Crying After The Verdict

फैसला सुनने के बाद रो पड़े सलमान, बहनों की आंखों में भी आए आंसू

जोधपुर सेशन कोर्ट ने 20 साल पुराने काले हिरण के शिकार मामले में सलमान खान को 5 साल जेल की सजा सुनाई है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Apr 19, 2018, 04:40 PM IST

  • फैसला सुनने के बाद रो पड़े सलमान, बहनों की आंखों में भी आए आंसू
    +3और स्लाइड देखें

    मुंबई.जोधपुर सेशन कोर्ट ने 20 साल पुराने काले हिरण के शिकार मामले में सलमान खान को 5 साल जेल की सजा सुनाई है। सजा सुनने के बाद सलमान की आंखों में आंसू आ गए। वहीं उनके साथ मौजूद दोनों बहनें भी रो पड़ीं। बता दें कि सलमान पर चिंकारा मामले में 4 केस चल रहे हैं और यह फैसला कांकड़ी केस में सुनाया गया है। फैसले के वक्त सलमान की दोनों बहनें अलविरा और अर्पिता भी उनके साथ मौजूद थीं। 10 हजार का जुर्माना भी...

    जोधपुर की चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट ने सलमान खान को दोषी करार दिया। लंच ब्रेक के बाद जज ने सलमान खान को 5 साल कैद और 10 हजार जुर्माने की सजा सुनाई गई। जेल भेजने के लिए उन्हें हिरासत में लिया गया है। इस केस में सह आरोपी सैफ अली, तब्बू, सोनाली और नीलम को संदेह के लाभ पर बरी कर दिया गया है। पेशी के लिए ये सभी बुधवार को यहां पहुंच गए थे। मामला सितंबर-अक्टूबर 1998 का है। तब ये सभी फिल्म 'हम साथ-साथ हैं' की शूटिंग के सिलसिले में जोधपुर में थे। सलमान खान और उनके साथियों पर 2 चिंकारा और 3 काले हिरणों (ब्लैक बक) के शिकार का आरोप लगा था। सलमान पर आर्म्स एक्ट के तहत भी केस दर्ज हुआ था।

    सजा सुना रहे थे जज, दीवार के सहारे खड़े थे सलमान

    - लंच के दौरान सलमान की दोनों बहनें कोर्ट रूम के बाहर गैलरी में फोन पर बात कर रही थीं। सलमान कुर्सी पर अकेले बैठे थे।
    - लंच के बाद जज डायस पर आए और सलमान खान कुर्सी से उठकर दीवार के सहारे खड़े हो गए। बहनें भी सलमान के साथ खड़ी हो गईं।
    - जज ने सलमान खान को 5 साल कैद और 10 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। फैसला सुनते ही उनकी दोनों बहनें रोने लगीं।
    - विश्नोई समाज ने फैसले के बाद नारेबाजी की और बरी किए गए लोगों के खिलाफ अपील करने की बात कही।

    क्यों दोषी करार दिए गए?

    1) हिरण शिकार के चारों केस में सबसे मजबूत था यह मामला

    - यह केस सबसे पुख्ता था, क्योंकि 1 अक्टूबर 1998 की रात जब इन बॉलीवुड स्टार्स ने कांकाणी में संरक्षित वन्य प्राणी दो काले हिरणों का शिकार किया था तो ग्रामीणों ने गोली की आवाज सुनकर उनका पीछा भी किया था। ग्रामीणों ने उन्हें मौके पर देखा था और हिरणों के शव भी वन विभाग को सुपुर्द किए थे। इस मामले में सलमान गोली चलाने के आरोपी बनाए गए।
    - शिकार से जुड़े बाकी के दोनों केस में इकलौता चश्मदीद हरीश दुलानी था, उसने भी बयान बदल लिए थे। उसने सलमान के अलावा दूसरे कलाकारों को पहचानने से इनकार कर दिया था। दूसरा कमजोर पक्ष यह भी था कि उसमें हिरणों के शव नहीं मिले थे।

    2) दूसरी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पुष्टि हुई

    - कांकाणी केस में पहली रिपोर्ट डॉ. नेपालिया की थी। उनकी रिपोर्ट के मुताबिक, एक हिरण की मौत दम घुटने से और दूसरे हिरण की मौत गड‌्ढे में गिर जाने और श्वानों द्वारा उसे खाने से हुई थी। अभियोजन पक्ष का कहना था कि यह रिपोर्ट सही नहीं थी क्योंकि इसमें गन इंजरी की बात नहीं थी।
    - इसके बाद मेडिकल बोर्ड बैठाया गया। बोर्ड ने दूसरी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दोनों काले हिरणों की मौत की वजह गन शॉट इंजरी ही बताई।

  • फैसला सुनने के बाद रो पड़े सलमान, बहनों की आंखों में भी आए आंसू
    +3और स्लाइड देखें

    ऐसे बीती फैसले से ठीक पहले की रात

    - एक रिपोर्ट के मुताबिक, सलमान और उनका परिवार जोधपुर के होटल ताज के 11 नंबर के कमरे में रुके थे। फैसले से ठीक पहले की रात सलमान परिवार के साथ जागते रहे। सभी स्विमिंग पूल के बगल में सब लोग बैठे थे। अलविरा, अर्पिता और उनके बच्चे थे। इसके बाद सलमान को छोड़ बाकी सभी लोग सोने चले गए। सलमान रात 12 बजे जिम गए। एक घंटे बाद यानी करीब एक बजे रात वे वापस आए और कुछ देर तक स्विमिंग करते रहे। फिर कुछ देर और वे स्विमिंग पूल के करीब ही बैठे रहे। सुबह करीब 3-4 बजे सलमान अपने कमरे में गए।

  • फैसला सुनने के बाद रो पड़े सलमान, बहनों की आंखों में भी आए आंसू
    +3और स्लाइड देखें

    1998 का मामला: जब 'हम साथ-साथ हैं' की शूटिंग कर रहे थे सलमान

    - मामला सितंबर-अक्टूबर 1998 का है। तब सलमान सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम कोठारी के साथ फिल्म 'हम साथ-साथ हैं' की शूटिंग के सिलसिले में राजस्थान में थे। सलमान खान और उनके साथियों पर 2 चिंकारा और 3 काले हिरणों (ब्लैक बक) के शिकार का आरोप लगा था। सलमान पर आर्म्स एक्ट के तहत भी केस दर्ज हुआ था। मामले में सलमान पर कुल चार केस थे। तीन हिरणों के शिकार के और चौथा आर्म्स एक्ट का। दरअसल, तब सलमान के कमरे से उनकी निजी पिस्टल और राइफल बरामद की गई थीं, लेकिन इन हथियारों की लाइसेंस की मियाद खत्म हो चुकी थी।

    कहां और कब किए गए शिकार?

    - सलमान पर जोधपुर के घोड़ा फार्म हाउस और भवाद गांव में 27-28 सितंबर 1998 की रात हिरणों का शिकार करने का आरोप। कांकाणी गांव में 1 अक्टूबर को 2 काले हिरणों के शिकार करने का आरोप। कांकाणी गांव शिकार मामले में गवाहों ने कोर्ट में बताया था कि गोली की आवाज सुनकर वे मौके पर पहुंचे थे। शिकार सलमान ने किया था। जीप में उनके साथ सैफ अली, नीलम, सोनाली और तब्बू भी थे। इन पर सलमान को उकसाने का आरोप है। गांव वालों को देखकर सलमान मारे गए हिरणों को वहीं छोड़कर गाड़ी लेकर चले गए थे।

  • फैसला सुनने के बाद रो पड़े सलमान, बहनों की आंखों में भी आए आंसू
    +3और स्लाइड देखें

    पिछले 20 साल में 18 दिन जेल में काट चुके हैं सलमान

    -हिरण शिकार के 3 मामलों में सलमान पुलिस और ज्यूडिशियल कस्टडी में 18 दिन जेल में रह चुके हैं।
    6 दिन: वन विभाग ने 12 अक्टूबर 1998 को हिरासत में लिया था। वे 17 अक्टूबर तक जेल में रहे।
    6 दिन: घोड़ा फार्म मामले में 10 अप्रैल 2006 को सलमान को लोअर कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई। 15 अप्रैल तक जेल में रहे।
    6 दिन: सेशन कोर्ट ने इस सजा की पुष्टि की। तब 26 से 31 अगस्त 2007 तक सलमान जेल में रहे।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Salman Was Crying After The Verdict
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×