Home »News» सलमान, काले हिरण शिकार केस, Blackbuck Killing Case Of 1998,Truth About That Night, When Salman Khan Ran Away

जिप्सी के पीछे भाग रहे थे गांववाले, तभी एक चेहरे पर पड़ी नजर, जानिए उस रात की कहानी

सलमान खान को दोषी करार दिया जा चुका है। अब जज उनकी सजा पर बहस कर रहे हैं।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 05, 2018, 12:10 PM IST

जिप्सी के पीछे भाग रहे थे गांववाले, तभी एक चेहरे पर पड़ी नजर, जानिए उस रात की कहानी

स्पेशल डेस्क.जोधपुर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने सलमान खान को दोषी करार देते हुए पांच साल की जेल और 10 हजार रुपए जुर्माने की सजा दी है। सलमान को छोड़कर उनके साथी सैफ अली खान, एक्ट्रेस नीलम, सोनाली और तब्बू को संदेह के आधार पर बरी कर दिया गया। बता दें कि काला हिरण शिकार का मामला एक अक्टूबर 1998 का है। Dainikbhaskar.com आपको बता रहा है कि आखिर उस रात हुआ क्या था, जिसके 20 साल बाद भी ये सलमान के गले की हड्डी बना हुआ है।

- मामला फिल्म हम साथ साथ हैं की शूटिंग के दौरान शुरू हुआ था। फिल्म राजस्थान में शूट हो रही थी।

- जोधपुर के कांकाणी गांव में रात करीब दो बजे का वक्त होगा। अंधेरे में सिर्फ सफेद रंग की जिप्सी की हेडलाइट की चमक रही थी।

- ये जिप्सी काफी देर से एक ही इलाके में लगातार घूम रही थी। देर रात जिप्सी और लोगों के शोर से गांव के लोग अलर्ट हो गए।

- दरअसल, यहां गांववालों अक्सर पाला काले हिरण के शिकारियों से पड़ता रहता है। गोली की आवाज सुनते ही उनका शक यकीन में बदल गया।

- गोली चलने की आवाज से गांव वाले जग गए और जंगल की तरफ दौड़ने लगे।

- लोग वहां पहुंचे तो दो काले हिरणों का शिकार हो चुका था। गांववालों ने देखा कि जिप्सी में सवार लड़के-लड़कियां काफी मॉडर्न और पैसे वाले लग रहे थे।

जिप्सी में बैठा था बेहद जाना-पहचाना चेहरा

- गांववालों ने उस जिप्सी में बैठे लोगों का पीछा किया तो वो लोग भागने लगे।
- लेकिन उस जिप्सी में एक चेहरा बेहद जाना-पहचाना था। वो शख्स कोई और नहीं, बल्कि सलमान खान थे।
- गांववालों ने तुरंत सलमान को पहचान लिया। हालांकि कोर्ट सुनवाई के दौरान छोगाराम नामक एक गवाह बयान से पलट गया था।
- उसने मेडिकल सर्टिफिकेट कोर्ट में लगाकर कोर्ट से कहा कि उसे कुछ याद नहीं रहता, उसे गवाही से अलग रखा जाए।

कोर्ट में गवाहों ने क्या बताया

- कोर्ट ट्रायल के दौरान गवाहों ने बताया था कि सलमान ने जब हिरणों का शिकार किया, उस समय ये सभी आरोपी जिप्सी गाड़ी में सवार थे।

- जिप्सी में सभी सितारों ने सलमान को शिकार करने के लिए उकसाया था। इसके बाद गोली की आवाज से सभी गांव वाले वहां आ गए।

- गांव वालों के आने के बाद सलमान का ड्राइवर वहां से गाड़ी लेकर भाग गए थे और दोनों काले हिरण वहीं मरे पड़े थे।

काले हिरण को संतान मानते हैं गांववाले

- घटना के बाद दोनों काले हिरणों का पोस्टमार्टम हुआ।
- गांववालों ने पारंपरिक तरीके से दोनों काले हिरणों का अंतिम संस्कार किया था।
- दरअसल, कांकाणी गांव में विश्नोई समाज काले हिरण और चिंकारे को अपने घर की संतानों की तरह मानते हैं।
- गांव के लोग भी अक्सर शिकारियों से इनका सुरक्षा करते हैं और उनके संरक्षण में मदद करते हैं।

- इस मामले में सलमान खान दो बार जोधपुर में जेल की हवा खानी पड़ चुकी है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप

Trending

Top
×