Home »Bollywood Mumbai» Sridevi Passes Away After A Cardiac Arrest

हमेशा फिटनेस का ध्यान रखने वाली श्रीदेवी की मौत कैसे हुई?

हार्ट अटैक का आखिरी स्टेज 'कार्डिएक अरेस्ट' होता है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 25, 2018, 01:15 PM IST

  • हमेशा फिटनेस का ध्यान रखने वाली श्रीदेवी की मौत कैसे हुई?
    +1और स्लाइड देखें

    मुंबई. बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी का दुबई में कार्डिएक अरेस्ट की वजह से निधन हो गया। वो 54 साल की थीं। श्रीदेवी भांजे मोहित मारवाह की शादी में शरीक होने के लिए दुबई गई हुईं थी। श्रीदेवी के निधन की खबर सुनकर हर कोई शॉक है। सबके जहन में सवाल है कि हमेशा फिटनेस को लेकर सजग रहने वाली श्रीदेवी को कार्डिएक एरेस्ट कैसे हो सकता है। क्या होता है कार्डिएक अरेस्ट...

    क्या होता है कार्डिएक अरेस्ट

    हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ सुब्रतो मंडल के मुताबिक कार्डिएक अरेस्ट दिल में होने वाली इलेक्ट्रिकल गड़बड़ी है। जिससे दिल के पम्प करने की क्षमता पर बुरा असर होता है। दिमाग, दिल या शरीर के दूसरे हिस्सों तक खून पहुंचने में दिक्कत होती है। खून की सप्लाई रुकने से इंसान बेहोश हो जाता है और कुछ ही देर बाद धड़कन बंद हो जाती है।

    हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट में फर्क
    हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ सुब्रतो मंडल के मुताबिक हार्ट अटैक और कार्डिएक अरेस्ट में फर्क होता है। कार्डिएक अरेस्ट हार्ट अटैक का आखिरी स्टेज होता है। कोरोनरी आर्टिरी में थक्का जमने को हार्ट अटैक कहते हैं। इसमें नसों में खून जाने में दिक्कत होने लगती है। लेकिन हार्ट अटैक के बाद कार्डिएक अरेस्ट का खतरा बढ़ जाता है।

    - कार्डिएक अरेस्ट में दिल से खून की सप्लाई बंद हो जाती है। यही वजह है कि कार्डिएक अरेस्ट से इंसान बेहोश होता है और फिर कुछ ही देर में उसकी सांस थम जाती है। 90 फीसदी मामलों में पहले हार्ट अटैक आता है लेकिन 10 फीसदी में कार्डिएक अरेस्ट के चांसेज होते हैं। ऐसा तब होता है जब पहले से हार्ट की कोई प्रॉब्लम रही हो।

    - हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ सुब्रतो मंडल के मुताबिक कार्डिएक अरेस्ट होने पर तुरन्त इलेक्ट्रिक शॉक देना चाहिए। हालांकि शॉक देने की मशीन हॉस्पिटल में ही होती है। ऐसे में अगर घर पर हैं तो मरीज की छाती को जोर से दबाना चाहिए।

    - अटैक आने पर पुरुषों की तुलना में महिलाओं के बचने के चांसेज कम होते हैं। जहां मेल में हार्ट अटैक आने पर बचने के संभावना 43 परसेंट होती है वहीं महिलाओं में बचने की संभावना सिर्फ 27 परसेंट होती है। हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ सुब्रतो मंडल के मुताबिक हार्ट अटैक आने के एक घंटे के अंदर इंसान के मरने की संभावना ज्यादा रहती है।

  • हमेशा फिटनेस का ध्यान रखने वाली श्रीदेवी की मौत कैसे हुई?
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Sridevi Passes Away After A Cardiac Arrest
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending

Top
×