Home »Flashback » Rare Photos Of Veteran Stars

'संस्कारी बाबूजी' से 'गब्बर सिंह' तक, जब सामने आईं सेलेब्स की ऐसी Photos

dainikbhaskar.com | Mar 10, 2017, 14:24 IST

दिल्ली (1974): थिएटर आर्टिस्ट मोना चावला के साथ आलोक नाथ। जोड़ी का यह फोटो फैसल अल्काजी के डायरेक्शन में बने हेरोल्ड पिंटेर्स, लवर्स नामक नाटक के दौरान लिया गया था।

मुंबई.बॉलीवुड स्टार्स की रेयर फोटोज अक्सर सोशल मीडिया या एग्जीबिशन के जरिए सामने आती रहती हैं। ऐसी ही कुछ फोटोज फोटोग्राफर पाब्लो बार्थोलोमेव ने एक एग्जीबिशन के जरिए लोगों को दिखा चुके हैं। 70 और 80 के दशक के उनके इस कलेक्शन में संस्कारी बाबूजी के नाम से मशहूर आलोकनाथ से वेटरन एक्टर अमजद खान, अनुपम खेर, स्मिता पाटिल, सत्यजीत रे, मीरा नायर, नफीसा अली, शबाना आजमी और सईद जाफरी समेत कई सेलेब्स की Never Seen Before फोटोज नजर आती हैं। जाने कौन हैं पाब्लो बार्थोलोमेव...
1955: पाब्लो बार्थोलोमेव का जन्म दिल्ली के आर्ट क्रिटिक-फोटोग्राफर रिचर्ड बार्थोलोमेव और थिएटर आर्टिस्ट रति बत्रा के घर में हुआ था।
1970: पाब्लो ने 15 साल की उम्र में स्कूल छोड़ दिया था।
1975: पाब्लो अपने एक फोटो निबंध के लिए प्रेस इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया अवॉर्ड जीत चुके हैं। ये निबंध एक मॉर्फिन एडिक्ट की लाइफ पर बेस्ड था।
1976: पाब्लो सत्यजीत रे की फिल्म ‘शतरंज के खिलाड़ी’ के सेट पर बतौर स्टिल फोटोग्राफर काम कर चुके हैं। इसी साल उन्हें मॉर्फिन एडिक्ट फोटो निबंध के लिए वर्ल्ड प्रेस फोटो अवॉर्ड मिला था।
1979: पाब्लो ने अपनी पहली फोटो एग्जीबिशन दिल्ली की आर्ट हेरिटेज गैलरी में लगाई थी। इस एग्जीबिशन में कूड़ा बीनने वालों, भिखारियों और सेक्स वर्कर्स की फोटोज को दिखाया गया था।
1980: ऐसी ही एक एग्जीबिशन मुंबई की जहांगीर आर्ट गैलरी में भी लगाई गई थी, जिसे काफी पसंद किया गया था।
1981: पाब्लो रिचर्ड एटनबरो की फिल्म 'गांधी' के सेट पर भी बतौर स्टिल फोटोग्राफर काम कर चुके हैं।
1984: पाब्लो ने दक्षिण पूर्व एशिया की लड़ाई भी कवर की है। उनका काम न्यूयॉर्क टाइम्स, नेशनल ज्योग्राफिक, द गार्जियन और द ऑब्जर्वर सहित कई लीडिंग पब्लिकेशन्स में दिखाई देता है।
1984: भोपाल गैस त्रासदी के दौरान पाब्लो ने एक आधा दफन बच्चे की फोटो ली थी। इस इमेज को वर्ल्ड फोटो ऑफ द ईयर का खिताब मिला था।
1987: यूएसए में इंडियन अप्रवासियों पर फोटो फीचर बनाने के लिए पाब्लो को एशियन कल्चर काउंसिल की तरफ से फेलोशिप दी गई थी।
1995: नागा जनजातियों पर फोटो फीचर बनाने के लिए पाब्लो को नार्वे की ‘Institute of Comparative Studies in Human Culture’ की तरफ से फेलोशिप मिली थी।
2011: मुंबई की साक्षी गैलरी में पाब्लो ने 70s और 80s के दशक के मुंबई की कई फोटोज प्रदर्शित की।
2012: पाब्लो ने द एग्जीबिशन और द कलकत्ता डायरीज में तांग्रा में मौजूद हाका चीनी समुदाय के लोगों पर फोकस करते हुए फोटो फीचर बनाया था। ये शूट उन्होंने 1976 में सत्यजीत रे की मूवी की शूटिंग के दौरान किया था, जिसका प्रदर्शन दिल्ली की आर्ट हेरिटेज गैलरी में किया गया था।
2014:इस साल उन्होंने अपने पिता की आर्ट राइटिंग का एक सेलेक्शन पेश किया था, जिसे द आर्ट क्रिटिक का नाम दिया गया था। इसे पाब्लो ने को-एडिट किया था।
आगे की स्लाइड्स पर देखें, पाब्लो बार्थीलोमेव के कैमरे से ली गई कुछ और Rare Photos...
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! डाउनलोड कीजिए Dainik Bhaskar का मोबाइल ऐप
Web Title: Rare Photos of Veteran Stars
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।
 

Stories You May be Interested in

      Trending Now

      पाएं लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट्स

      दैनिक भास्कर के ट्रेंडिंग खबरों के नोटिफिकेशन रखेंगे आपको अपडेट..

      * किसी भी समय ब्राउजर सेटिंग्स बदलकर नोटिफिकेशंस ऑफ कर सकते हैं.
      Top