Home » Khabre Zara Hat Ke » Weird World » Camera And Phone Not Work In Baltic Sea At UFO

बाल्टिक सागर की 'उडऩ तश्तरी' में काम नहीं करते कैमरे या फोन

Agency | Jun 28, 2012, 09:29AM IST

लंदन.बाल्टिक सागर की तलहटी में स्थित उडऩ तश्तरी जैसी आकृति रहस्य का केंद्र बन गई है। इसके ऊपर कैमरा, सैटेलाइट फोन जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण काम नहीं करते। वैज्ञानिक वजह तलाश रहे हैं।

(इस हसीना ने दिखाया अपने हुस्न का जलवा) 

गोताखोर स्टीफन हॉगरबॉर्न के हवाले से ब्रिटेन के एक अखबार ने लिखा है कि 'इस आकृति के ऊपर करीब 200 मीटर की दूरी तक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण काम नहीं करते। दायरे से बाहर आने पर सब सामान्य हो जाता है।'

(बिकनी पहन पढ़ा रहीं हैं टीचर) 

इस जगह का पता पिछले साल मई में चला था। यह स्वीडन और फिनलैंड के बीच फैले सागर में है। सोनार तकनीक से ली गई तस्वीर में यह स्टार वार शिप के मिलेनियम फॉल्कन जैसा दिखता है। 985 फीट चपटा 'रनवे' जैसा है। ऊंचाई करीब 10 से 13 फीट है और 60 मीटर व्यास में फैला है। आकृति के चारों ओर काले चट्टान हैं। आकृति के बीच में अंडानुमा छेद है।

(फिल्मी लूट भी फेल है इस खतरनाक डकैती के आगे) 

गोताखोर पीटर लिंडबर्ग ने कहा कि 'हमने वो देखा, जिसकी कल्पना भी नहीं की थी। मैं इसके बारे में की जा रही तरह-तरह की बातों को संदेह की नजर से देखता था। मुझे उम्मीद थी कि वहां कोई पत्थर, चट्टान या कीचड़ का ढेर होगा। ऐसा कुछ भी नहीं मिला।'

(मिलिए दुनिया की 10 सबसे हॉट राजकुमारियों से) 

टीम के एक सदस्य डेनिस एसबर्ग के मुताबिक यह उल्का, तारा या ज्वालामुखी हो सकता है। या शीतयुद्ध के दौरान छुपाकर रखा गया नाव या फिर उडऩ तश्तरी।' आकृति के बारे मेंं जानकारी जुटाने के लिए अगले सप्ताह गोताखोरों का दल फिर पानी मे उतरेगा।

Click for comment
 
 
 
विज्ञापन
Email Print Comment