Home » Features » News Reel » Actor Pran Will Get Dada Sahab Falke Award For The Year 2013

अब जाकर फाल्‍के अवार्ड में आए 'प्राण'

दैनि‍क भास्‍कर.कॉम | Apr 13, 2013, 07:53AM IST
अब जाकर फाल्‍के अवार्ड में आए 'प्राण'
नई दिल्ली. प्राण साहब का नाम दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के लिए पहले भी एकाधिक मौकों पर आया था। लेकिन किसी न किसी वजह से उनके नाम पर सहमति नहीं बन पाई थी। फिल्म इंडस्ट्री के इस सबसे बड़े सम्मान के विजेता के चुनाव के लिए जो समिति बनी, उस समिति के किसी न किसी सदस्य को या तो उनके नाम पर ऐतराज रहा या कभी क्षेत्रवाद हावी हो गया और दक्षिण की किसी हस्ती को यह पुरस्कार नसीब हो गया। प्राण का यूपी और मप्र से खास लगाव रहा है। उनकी शिक्षा-दीक्षा पंजाब के कपूरथला, उत्तर प्रदेश के उन्नाव, मेरठ व रामपुर, उत्तराखंड के देहरादून और मध्यप्रदेश में हुई थी। 
 
Read : 'बॉबी' के लिए केवल 1 रुपए फीस ली थी प्राण ने, जानिए और भी दिलचस्प बातें
 
90 वर्ष की उम्र पार कर चुके प्राण साहब  दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से दूर ही रहे। मनोरंजक यह है कि हर बार की तरह इस बार भी फिल्म इंडस्ट्री के कुछ लोग खुद को यह सम्मान दिलवाने के लिए सक्रिय रहे। 
 
इस साल अपने आप उनके पक्ष में चीजें बनती चली गई। उस समिति में, जिसे इस सम्मान के लिए किसी बड़ी शख्सियत का चुनाव करना था, कुछ ऐसे लोग सदस्य के तौर पर शामिल नहीं हो पाए जो कभी नहीं चाहते थे कि प्राण साहब को यह सम्मान मिले। एक नामी फिल्म निर्देशक और राज्यसभा सांसद तथा एक मशहूर मलयाली फिल्मकार इस बार चुनाव समिति से दूर रहे। वे सालों से इस चुनाव समिति में बतौर दादा साहेब फाल्के विजेता शामिल होते रहे थे। वाजिब तर्क यह दिया गया कि सिर्फ कुछ चुनिंदा लोगों को क्यों हर बार चुनाव समिति का सदस्य बनाया जाए? 
 

Read : प्राण के धांसू DIALOGUES: 'शेरखान ने शादी नहीं की तो क्या हुआ, बारातें तो कई देखी हैं'
 

सूचना-प्रसारण मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के मुताबिक, फाल्के सम्मान के चयन के लिए जो समिति बनती है, उसमें कुल पांच सदस्य होने चाहिए और उनमें से कम से कम एक या दो वे हों जिन्हें पहले यह सम्मान मिल चुका है। संयोग ऐसा रहा कि इस बार की चुनाव समिति में सायरा बानो, आशा भोंसले, रमेश सिप्पी और डी. रामानायडू जैसे लोग शामिल किए गए, जो प्राण साहब के नाम पर सहमत हो पाए। ये लोग पहले से ही चाहते थे कि प्राण साहब इस सम्मान के हकदार काफी पहले से हैं। उनके पक्ष में एक बात और गई कि वे पहले चरित्र अभिनेता हैं जिन्हें इस सम्मान से नवाजा जा रहा है।
 
Read : नफरत भरे किरदार निभाकर भी लोगों के दिलों पर राज करते हैं प्राण
 
आगे पढ़ें- 'प्राणवान' था साठ और सत्‍तर का दशक 
 


13 अप्रैल की खास खबरें
 
इस्लाम के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी को लाइक किया, उदयपुर में बवाल
मोदी के खिलाफ प्रस्ताव आया तो टूटेगा भाजपा-जदयू गठजोड़
सूर्य पर साल की सबसे भीषण लपटें, फेल हो सकता है कम्युनिकेशन सिस्टम
तस्‍वीरों में देखें, वीरू की वापसी भी नहीं दिला सकी जीत, सनराइजर्स ने दी दिल्ली को शिकस्त
15 साल में पता चला कि ब्रा पहनने से बेकार हो रहे हैं ब्रेस्‍ट
अमेरिका ने पहली बार माना, परमाणु मिसाइल हमला करने में सक्षम है उत्तर कोरिया
जब सड़क पर फर्राटा भरता रहा यह 'बर्निंग ट्रक', देखिए खौफनाक तस्वीरें
पोर्न फिल्‍म देखकर मछली पर किया जुल्‍म, अब चलेगा मुकदमा
जानिए, क्‍यों और कैसे मिला प्राण साहब को फाल्‍के अवार्ड
9 मौतों के जिम्मेदार भुल्लर को नहीं मिलेगी माफी, होगी फांसी
कनाडा: सोशल मीडिया पर जलालत सह न सकी, जान दी
दंतेवाड़ा और बीजापुर रह गया है सरकार के लिए चुनौती

 

 

Ganesh Chaturthi Photo Contest
Click for comment
 
 
 
विज्ञापन
Email Print Comment